पंजाब अनएडिड कालेज एसोसिएशन का हल दिल्ली बैठ कर निकालेंगे केजरीवाल



kejriwal

आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर पंजाब के दौरे दौरान लोगों की नब्ज टटोल रहे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पंजाब की सतारूढ़ अकाली-भाजपा सरकार से आ रही समस्याएं बताने वालों की गिनती में बढ़ौतरी हो रही है।

पंजाब सरकार से राज्य में तेजी से खुल रही प्राइवेट यूनिवॢसटियों पर निगाह रखने के लिए रैगुलेटरी बोर्ड बनाने की मांग कर रहे ए.आई.सी.टी.ई. से मान्यता प्राप्त अनएडिड कालेजों की एसो. को केजरीवाल ने इस मामले पर विस्तार से चर्चा के लिए दिल्ली में मीटिंग के लिए बुलाया है।

अनएडिड कालेजों को आ रही कई परेशानियों को लेकर पंजाब अनएडिड कालेजिज एसो. (पुक्का) के शिष्टमंडल ने प्रधान डा. अंशु कटारिया के नेतृत्व में केजरीवाल से मुलाकात की और विभिन्न मामलों पर चर्चा की। डा. अंशु कटारिया ने बताया कि केजरीवाल ने इस मुद्दे को नैशनल लैवल पर उठाने का आश्वासन भी दिया है।

इस दौरान उपप्रधान गुरफतेह गिल ने केजरीवाल को बताया कि सरकार ने अभी तक पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप 2015-16 के लिए फंड जारी नहीं किए और स्टेट यूनिवॢसटियां कालेजों पर पैसा जमा करवाने के लिए दबाव डाल रही हैं।

सीनियर उपप्रधान अमित शर्मा ने कहा कि जिस तरह से ए.आई.सी.टी.ई. प्राइवेट कालेजों में दाखिले के नियमों व प्रक्रिया के अलावा सिलेबस, फीसों के सिस्टम को कंट्रोल करती हैं, उसी तरह प्राइवेट एवं डीम्ड यूनिवॢसटीज को भी रैगुलेटरी बोर्ड कंट्रोल करे, क्योंकि प्राइवेट विश्वविद्यालय अपनी मर्जी से नए कोर्स लागू कर रहे हैं।

केजरीवाल से मिलने गए शिष्टमंडल में कोषाध्यक्ष अशोक गर्ग, ट्राई सिटी को-ऑर्डीनेटर मानव धवन, मालवा को-ऑर्डीनेटर मोंटी गर्ग, दोआबा को-ऑर्डीनेटर संजीव चोपड़ा, जसवंत सिंह, अंकुर गर्ग, माझा को-ऑर्डीनेटर डा. आकाशदीप सिंह, एसो. ऑफ पॉलीटैक्निक कालेजिज के को-ऑर्डीनेटर रणबीर ढींडसा भी मौजूद थे।





LEAVE A REPLY