गैरकानूनी कॉलोनियों पर कसा गलाडा ने कसा शिकंजा, एनओसी के बिना नहीं होंगी शहर की हद से बाहर बनीं कॉलोनियों की रजिस्ट्री



GLADA Building Ludhiana

अब लुधियाना शहर से बाहर गलाडा की हद में काटी क़ानूनी और गैरकानूनी कॉलोनी की रजिस्ट्री करवाने के लिए एनओसी लगानी होगी। ये एनओसी गलाडा की ओर से जारी की जाएगी और तहसीलदारों को ये हिदायत कर दी गई है कि वे रजिस्ट्री करने से पहले एनओसी जरूर साथ में देखें। गौर हो कि इललीगल कॉलोनियों पर शिकंजा कसने के लिए पहले गलाडा ने जिला प्रशासन तहसील ऑफिस को खसरा नंबर बता कर इनमें रजिस्ट्री करने को कहा जाता था, लेकिन इसमें तहसीलदारों को परेशानी होने के चलते अब रजिस्ट्री के दौरान गलाडा की एनओसी को अनिवार्य कर दिया गया है।

इसकी पुष्टि ईओ रेगुलेटरी एचएस सेखों ने की है। इललीगल कॉलोनियों पर शिकंजा कसने के लिए गलाडा की ओर से कार्रवाई तो जारी है, लेकिन इसके बावजूद विभाग इन्हें बनने से नहीं रोक पा रहा है। इसके साथ-साथ गलाडा को पावरकॉम से भी इललीगल कॉलोनियों पर एक्शन लेने के लिए मदद नहीं मिल पा रही है। गलाडा ने पावरकॉम को एक पत्र जारी कर इललीगल कॉलोनियों में बिजली कनेक्शन देने को कहा था, लेकिन पीएसपीसीएल ने इसके जबाव में गलाडा से ऐसी कॉलोनियों के नाम देने को कह दिया है।

गलाडा ने बीते दो सप्ताह में चूहड़पुर रोड, बलौकी, हंबडां कई अन्य जगहों पर आती जिन इललीगल कॉलोनियों पर कार्रवाई की थी उनमें 22 कॉलोनियों को नोटिस जारी कर इनके दस्तावेज देने को कहा है। इन नोटिसों में संबंधित कॉलोनाइजर्स से पूछा गया है कि क्या उन्होंने कॉलोनी काटने के संबंध में कोई मंजूरी या प्लान पास करवाया है। इसके लिए कॉलोनी मालिक को एक महीने का समय दिया गया है।

आगे पढें पूरी खबर 





LEAVE A REPLY