समाजसेवी संस्था ने बाल भवन में अनाथ बच्चों के साथ धूमधाम से मनाई लोहड़ी



लोहड़ी के पावन त्यौहार को माय वेय संस्था द्वारा बाल भवन में पारिवारिक प्यार के लिए तरस रहे बच्चो के साथ लोहड़ी धीया दी नाम से मनाया गया| इस अवसर पर समाज सेवक व संस्था के महासचिव वरुण मेहता ने कहा कि समाज मे उपेक्षित बच्चों को राशन समारोह या अन्य ऐसे किसी दान की नही बल्कि शिक्षित करने की जरूरत है ताकि भविष्य में एक सभ्य व शिक्षित नागरिक बन सके| उंन्होंने कहा कि हमारे समाज मे जरूरतमंद बच्चों व महिलाओं के लिए शिक्षा व स्वास्थ्य के लिए ठोस कार्य करने हेतु समाजिक संस्थाओं को आगे आकर कार्य करने की जरूरत है| मेहता ने पंजाब सरकार से समाज के उपेक्षित वर्ग के हित मे कार्य करने वाले संगठनों को प्रोत्साहित करने की मांग की ।

इस अवसर पर क्लब की प्रधान अजिन्दर कौर ने बताया कि हमारी संस्था का एकमात्र लक्ष्य समाज के उपेक्षित व असहाय वर्ग के हित मे कार्य करना है व पंजाब सहित उत्तर भारत के प्रसिद लोहड़ी त्यौहार को जहां सारा समाज बड़े-बड़े होटलों व क्लबों में आयोजन कर मना रहा है वहीं हमारी संस्था द्वारा इस त्यौहार को बाल भवन में उन बच्चो के साथ मनाने का फैसला लिया गया क्योकि वो बच्चे कुछ माता पिता की गलतियों के कारण परिवारिक वात्सल्य पाने से वंचित रह गए है आज़ उन बच्चो के चेहरों पर खुशी देखकर इस त्यौहार का आनंद हम सभी के लिए दुगना हो गया है उंन्होंने कहा कि आज़ हर नेता व संगठन भ्रूण हत्या रोकने की बड़ी बड़ी बातें करते है लेकिन हकीकत में आज़ भी यह कुरीति हमारे समाज को दीमक की तरह खा रही है और भ्रूण हत्या के लिए मुख्य तौर पर हमारा सभ्य समाज जिम्मेवार है हमारी संस्था द्वारा जल्द ही इस मामले में समाज को जागरूक करने के लिए विशेष अभियान शुरू किया जा रहा है|इस अवसर पर बाल भवन के सभी बच्चों ने डीजे की धुन पर खूब भंगड़ा डाला व संस्था द्वारा नवजनमी बच्ची के नाम पर लोहड़ी के त्यौहार को मनाते हुए समाज के लिए मंगलकामना की।





LEAVE A REPLY