लुधियाना सहित कई शहरों के सरकारी स्कूल बनेंगे स्मार्ट स्कूल, शिक्षा विभाग द्वारा फंड जारी


पंजाब के सरकारी स्कूलों को प्राईवेट स्कूलों से बेहतर बनाने के मकसद से राज्य के तीन स्मार्ट शहर अमृतसर, जालंधर और लुधियाना के सभी सरकारी स्कूलों को स्मार्ट स्कूलों में तब्दील किया जाएगा। शिक्षा मंत्री ओ.पी. सोनी ने बताया कि इस मंतव्य के लिए तीनों ही जिलों के जिला शिक्षा अधिकारियों (डी.ई.ओज) को तकरीबन 20 करोड़ रुपए जारी कर दिए गए हैं और इस पर काम जल्दी शुरू होगा। उन्होंने कहा कि इन स्कूलों को लैपटॉप, मल्टीमीडिया प्रोजैक्टरों और तेज रफ्तार इंटरनेट से लैस किया जाएगा जिससे अध्यापन और सीखने की प्रक्रिया को सुविधाजनक और अधिक प्रभावशाली बनाया जा सके। इन स्कूलों में स्मार्ट क्लास रूमों के अलावा छतों पर सौर्य ऊर्जा प्लांट भी लगाए जाएंगे।

सोनी ने बताया कि शिक्षा विभाग ने छात्राओं को मुफ्त सैनेटरी नैपकिन मुहैया करने का फैसला किया है। इसलिए दस करोड़ रुपए के टैंडर जारी किए गए हैं। उन्होंने बताया कि छात्रों की वर्दियों के लिए 80 करोड़ रुपए के टैंडर भी अलॉट किए गए हैं और बच्चों को एक हफ्ते में वर्दियां मिलनी शुरू हो जाएंगी। इस सारी कवायद का मकसद गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मुहैया कराना है। शिक्षा ढांचे का नवीनीकरण विभाग की प्राथमिकता है। उनके अनुसार इस पहलकदमी से प्राईवेट स्कूल संस्कृति पर नकेल कसेगी। इन स्मार्ट स्कूलों के छात्र किसी से पीछे नहीं रहेंगे।


LEAVE A REPLY