जलियांवाला बाग हत्याकांड के सौ साल पुरे होने पर निकाला गया कैंडल मार्च – सीएम व राज्यपाल ने कैंडल मार्च में पहुंचकर शहीदों को दी श्रद्धांजलि


 

जलियांवाला बाग में 13 अप्रैल 1919 को देश के लिए अपनी जान कुर्बान करने वालों शहीदों को शुक्रवार सायं राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह सहित कई गण्यमान्य लोगों ने कैंडल मार्च निकालकर श्रद्धांजलि दी। कैंडल मार्च में कैबिनेट मंत्री सुखबिंदर सिंह सुखसरकरिया, ओम प्रकाश सोनी, सुनील जाखड़, आशा कुमारी, गुरजीत औजला, सुनील दत्ती, इंदरबीर बुलारिया, राजकुमार वेरका के अलावा स्टूडेंट्स ने भी हिस्सा लिया।

बता दें, जलियांवाला बाग के सौ साल पूरे होने पर इस साल क्रूरता भरे नरसंहार को शोक के तौर पर मनाने व जनरल डायर की गोलियों का निशाना बने लोगों को श्रद्धांजलि देने के लिए इस बार शताब्दी वर्ष मनाया जा रहा है। पंजाब सरकार की तरफ से एक दिन पूर्व शुक्रवार सायं जिला प्रशासन की तरफ से जलियांवाला बाग से कैंडल मार्च निकाला गया।

शताब्दी वर्ष के लिए एक तरफ जहां निगम बाग के अंदर कोरिडोर व अन्य जगहों पर रंग-रोगन करवाया, वहीं बाग के अंदर जलने वाली अखंड ज्योति के पास की पीतल की पाइपों को भी पालिश किया गया। हालांकि न तो इसमें अभी तक केंद्र सरकार की तरफ से और न ही पंजाब सरकार की तरफ से इस बाग के विकास के लिए कोई भी प्रोजेक्ट शुरू हुआ है। बाग में रंग-रोगन का काम करवाने वाले कारपोरेशन के एसडीओ गुरबचन सिंह ने कहा कि 14 करोड़ रुपये से ज्यादा के प्रोजक्ट फ्लोट किए जा चुके हैं, जिन पर जल्द ही काम शुरू होने की संभावना है।


LEAVE A REPLY