लुधियाना पुलिस ने गिरफ्तार किए 4 संदिग्ध कश्मीरी, भारी मात्रा में हथियार बरामद-सूत्र


terrorist

शहर की सुरक्षा को लेकर गंभीर दिख रही लुधियाना पुलिस ने कल देर शाम रड़ी मौहल्ला में दबिश दी। दर्जनों पुलिसकर्मियों ने इलाके को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया है। हर घर की बारीकी से तलाशी ली गई। तलाशी दौरान पुलिस ने चार संदिगध कश्मीरी युवकों को एक घर से उठाया है। लेकिन देर रात समाचार लिखे जाने तक पुलिस ने अधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नही की है। बता दें कि पुलिस ने कई घंटों की कड़ी छापेमारी के बाद इनको गिरफ्तार कर पाई। पकड़े गए संदिग्धों से कश्मीरी सामान बरामद हुआ है।

सूत्रों के अनुसार पकड़े गए संदिग्धों के तार विगत दिनों जालंधर मकसूदा चौंकी में हुए ब्लास्ट से जुड़े हुए हैं। जालंधर पुलिस की तरफ से दो दिन पहले पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ दौरान पकड़े गए संदिग्धों के नाम सामने आए। सूत्रों के अनुसार पुलिस मोबाइल लोकेशन से इन तक पहुंचने का प्रयास कर रही थी। सुबह संदिग्धों की लोकेशन थाना डिवीजन नं.8 के इलाके में थी। जबकि बाद में संदिग्धों की लोकेशन थाना डिवीजन नं. 3 के इलाके में रड़ी मौहल्ला में थी।

सूत्रों के मुताबिक, पकड़े गए संदिग्ध की सैंकड़ो बार कश्मीर और जालंधर में बातचीत हुई है। ए.डी.सी.पी सुरिन्द्र लांबा की अगुवाई में पुलिस टीम ने दबिश दी। दबिश इतनी सीक्रेट थी कि थाना डिवीजन नं. 3 की पुलिस को भी इस दबिश की भनक तक नही लगी। इस सबंधी ए.डी.सी.पी 2 सुरिन्द्र लांबा से संपर्क करने पर उन्होंने बताया कि दीपावली पर्व के मददेनजर सुरक्षा को लेकर पुलिस ने करीब 80 लोगों से पूछताछ की। पुलिस ने दबिश की बात से इंकार किया है।

अफवाह से मचा हड़कंप

रड़ी मौहल्ला में पुलिस की सीक्रेट दबिश से हड़कंप मच गया। दर्जनों पुलिसकर्मियों रेड से पहली अफवाह यह फैली कि पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के जरिए कुछ आतंकवादी पकड़े। दूसरी अफवाह यह थी कि पुलिस के हाथ भारी मात्रा में असलहा लगा है। परंतु देर रात ए.डी.सी.पी टू ने इन्हे कौरी अफवाह करार दिया है।

  • 77
    Shares

LEAVE A REPLY