भारत से पुर्तगाल जाते डूबे जहाज का 400 साल बाद मिला मलबा


पुरातत्वविदों ने करीब 400 साल पुराने पुर्तगाल तट पर डूबे जहाज का मलबा लिस्बन के पास गहरे समुद्र में ढूंढ निकाला है। पुरातत्वविदों का दावा है कि यह जहाज मसालों और अन्य सामग्री के साथ भारत से पुर्तगाल की तरफ जा रहा था, तभी रास्ते में कहीं डूब गया।

पुर्तगाल की राजधानी लिस्बन से 15 मील की दूरी पर काशकाइश के मछली पकड़ने वाले बंदरगाह के नजदीक समद्री क्षेत्र के सर्वेक्षण के दौरान यह मलबा मिला है। पुरातत्वविद इसे पिछले दो दशक की समुद्री खोजों में बेहद अहम मान रहे हैं। यह मलबा समुद्र की सतह से महज 40 फीट नीचे पड़ा मिला। अनुमान लगाया गया जा रहा है कि यह जहाज साल 1575 से 1625 के दौरान भारत से लिस्बन आते समय डूब गया होगा। समुद्री तल में यह मलबा करीब 100 मीटर लंबे और 50 मीटर चौड़े क्षेत्र में फैला पाया गया है।

अंडरवाटर पुरातात्विक सर्वेक्षण में शामिल एक समुद्री वैज्ञानिक जॉर्ज फ्रियर ने बताया कि हमने जहाज का भौगोलिक सर्वेक्षण और गोताखोरों का इस्तेमाल करने पर पाया कि यह खोज पुर्तगाल के व्यापारिक अतीत और काशकाइश शहर के विकास पर भी प्रकाश डालेगी। चार सितंबर को खोजी गई इस साइट पर वैज्ञानिकों ने काम करने में चार दिन बिताए। फ्रियर ने कहा कि हम जहाज का नाम नहीं जानते लेकिन 16वीं सदी के उत्तरार्ध से याय 17वीं सदी की शुरूआत में यह पुर्तगाली जहाज रहा होगा। इससे भारत, यूरोप और पुर्तगाल के बीच कला, हथियार और सांस्कृतिक परिदृश्य के बारे में जानकारी मिल सकती है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY