सलेम टाबरी पुरानी सब्जी मंडी में हुई हत्या के मामले को पुलिस ने सुलझाया, 24 घंटे में पुलिस द्वारा आरोपी गिरफ्तार


Accused Arrested

सलेम टाबरी पुरानी सब्जी मंडी में सतपाल उर्फ घोघा को उसी के दोस्त बृजेश ने मौत के घाट उतारा था। हत्या करने के बाद बृजेश छिपकर रह रहा था, जिसे पुलिस ने सलेम टाबरी इलाके से काबू किया है। उक्त खुलासा पत्रकार सम्मेलन में ए.डी.सी.पी. गुरप्रीत सिंह सिकंद, ए.सी.पी. लखवीर सिंह टिवाना व थाना दरेसी प्रभारी रजवंत सिंह ने पत्रकार सम्मेलन के जरिए किया है।

पुलिस ने मृतक के भतीजे संदीप सिंह के बयान पर आरोपी बृजेश कुमार निवासी सलेम टाबरी के खिलाफ धारा-302 के तहत केस दर्ज किया है।ए.डी.सी.पी. ने बताया कि सतपाल की उम्र करीब 50 साल का था, जो अविवाहित था। 20-25 साल से वह पुरानी सब्जी मंडी में पल्लेदारी व मजदूरी का काम कर गुजर-बसर कर रहा था। सलेम टाबरी पैट्रोल पंप पर काम करने वाले बृजेश से उसकी दोस्ती हुई। पंप के पीछे ही रहने के लिए क्वार्टर बने हुए थे। सतपाल अैर बृजेश रात को वहीं शराब पीते थे।सतपाल अक्सर बृजेश पर रौब झाड़ता था। 10 फरवरी की रात को भी किसी बात को लेकर सतपाल ने बृजेश पर रौब झाड़ा। दोनों के बीच जमकर तू-तू, मैं-मैं हुई, जिसके बाद गुस्से में आकर बृजेश ने बेसबाल के डंडे से सतपाल पर कई वार किए, जिससे सतपाल की मौत हो गई। बृजेश ने सतपाल के शव को खाट के नीचे छिपाया और फरार हो गया।

24 घंटे में पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार

थाना प्रभारी रजवंत सिंह ने बताया कि बृजेश मूल रूप से यू.पी. का रहने वाला है। हत्या करने के बाद बृजेश भागने की फिराक में था, जिसे पुलिस ने 24 घंटे के भीतर काबू कर लिया है। हालांकि हत्या के दिन पुलिस को मृतक की पहचान जुटाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी, परंतु जब मृतक की पहचान हुई तो कड़ी से कड़ी जुड़ती गई और आरोपी को काबू कर लिया गया। पुलिस ने आरोपी को अदालत समक्ष पेश कर 2 दिन का रिमांड हासिल किया है।

पुलिस ने शव को किया परिजनों के हवाले

मंगलवार को सतपाल का सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाया गया। डाक्टरों के अनुसार सिर पर डंडे से हुए प्रहार से ज्यादा खून बह जाने के कारण सतपाल की मौत हुई है। पुलिस ने सतपाल के शव को परिजनों के हवाले कर दिया है। मंगलवार को सतपाल के भतीजे और परिवार ने मृतक का संस्कार किया।

  • 7
    Shares

LEAVE A REPLY