बीबीएमबी द्वारा 220 केवी उपकेंद्र जमालपुर के कार्यलय की छत पर लगाए गए सौर ऊर्जा संयंत्र


लुधियाना – भाखड़ा ब्यास प्रबंध बोर्ड (बीबीएमबी) ने अपने कार्यालयों की छतों पर सौर ऊर्जा संयंत्र को स्थापित करने का कार्य हाथ में लिया है । सौर ऊर्जा संयंत्र भारत सरकार के नए और नवीकरण ऊर्जा मंत्रालय के कार्यक्रम में योगदान का एक हिस्सा है । योजना अनुसार यह सौर ऊर्जा संयंत्र कार्यालयों की छतों पर, खाली जमीन पर और पानी की सतह पर लगाने की योजना है। बीबीएमबी हाइड्रो विद्युत उत्पादन में एक अग्रणीय संस्था है जिस द्वारा 220 केवी उपकेंद्र जालंधर में 100 के.डबल्यू.पी. (kwp) और 220 केवी उपकेंद्र जमालपुर ( लुधियाना ) में 60 के .डबल्यू.पी. (kwp) क्षमता के सौर ऊर्जा संयंत्र लगा कर अपनी विद्युत उत्पादन क्षमता में बढ़ावा किया है।

इससे पहले बीबीएमबी द्वारा जुलाई 2017 में चंडीगढ़ स्थित कार्यालयों की छ्तों पर 175 के.डबल्यू.पी. (kwp) की क्षमता के ग्रिड से जुड़ा सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित किया गया था और बीबीएमबी के 220 केवी उपकेंद्र नरेला में 20 के.डबल्यू.पी. (kwp) और 220 केवी उपकेंद्र दिल्ली में 80 के.डबल्यू.पी. (kwp) की क्षमता के सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करने का कार्य प्रगति में है और वह कार्य जनवरी 2019 के अंत तक पूरा होने की संभावना है ।

ई. देवेन्द्र कुमार शर्मा अध्‍यक्ष, बीबीएमबी द्वारा आज दिनांक 18.12.2018 जमालपुर (लुधियाना) और जालंधर उपरोक्त दोनों उपकेन्द्रों की छतों पर ग्रिड से जुड़े हुए सौर ऊर्जा संयंत्र का उदघाटन किया गया। इन सौर ऊर्जा संयंत्र से 2.56 लाख प्रति वर्ष यूनिट का उत्पादन होना अपेक्षित है। बीबीएमबी के अध्‍यक्ष महोदय द्वारा नवीनीकरण ऊर्जा के बहुत से लाभों बारे प्रकाश डाला गया। उन्होने यह भी बताया कि बीबीएमबी नंगल में भूमि से जुड़े और तैरने वाले सौर ऊर्जा संयंत्र को स्थापित करने का कार्य भी शुरू किया जा रहा है। माननीय अध्‍यक्ष महोदय ने बीबीएमबी के सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को उपरोक्त कार्य में उनके महत्वपूर्ण योगदान के लिए हार्दिक बधाई दी ।


LEAVE A REPLY