फगवाड़ा में हुई झड़प के बाद आज तीसरे दिन भी बंद, पुलिस प्रसाशन अलर्ट


Police on Hight Alert at Phagwara

13 अप्रैल को जातीय हिंसा का केंद्र बना फगवाड़ा लगातार तीसरे दिन पूरी तरह से बंद रहा। इसके चलते शहर के सभी प्रमुख बाजार व इलाकों में मौजूद बाजार आदि पूरी तरह से बंद दिखाई दिए। इसी भांति सभी निजी शैक्षिक संस्थाएं जिनमें स्कूल व कालेज शामिल हैं, बंद रहे। फगवाड़ा में बने हुए भारी तनाव के कारण लोगों में भारी खौफ पाया जा रहा है। इस दौरान फगवाड़ा में आज रैपिड एक्शन फोर्स, बी.एस.एफ., पंजाब पुलिस व पैरा-मिलिट्री फोर्स से भरे वाहनों ने शहर में दो बार फ्लैग मार्च किया। इसके चलते हूटर मारते हुए पुलिस व पैरा-मिलिट्री फोर्स के कई वाहन शहर के बंद पड़े प्रमुख बाजारों व अन्य इलाकों से होकर गुजरे। इसके अतिरिक्त फगवाड़ा के विभिन्न इलाकों, बाजारों व संवेदनशील क्षेत्रों में बी.एस.एफ., पंजाब पुलिस व रैपिड एक्शन फोर्स की टीमें तैनात पाई गईं। फगवाड़ा में बने हुए गंभीर हालात के मध्य जिलाधीश कपूरथला मोहम्मद तैयब, एस.एस.पी. कपूरथला संदीप शर्मा सहित अनेक सीनियर पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने पूरे समय शहर में कैंप किया और बने हुए हालात की पल-पल जानकारी हासिल की।

इस दौरान जिलाधीश कपूरथला मोहम्मद तैयब व एस.एस.पी. कपूरथला संदीप शर्मा ने कहा कि फगवाड़ा में अब हालात पूरी तरह से शांतिपूर्ण हैं और जिला प्रशासन सभी इलाकों में अमन-शांति की स्थिति को बहाल करने के प्रति वचनबद्ध है। लोगों की जनसुरक्षा की भावना को मजबूत करने के मनोरथ से पुलिस निरंतर फ्लैग मार्च कर रही है। यदि कोई भी व्यक्ति कानून को हाथ में ले शांति व्यवस्था को भंग करता पाया जाता है तो उसके विरुद्ध कड़ी कानूनी कार्रवाई होगी। उन्होंने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करते हुए आग्रह किया कि वे अफवाहों से सचेत रहें और इन पर ध्यान न दें। मुख्यमंत्री पंजाब कैप्टन अमरेन्द्र सिंह द्वारा फगवाड़ा में बने हुए हालात का पूरा जायजा लिया जा रहा है और उन्होंने कानून व्यवस्था को सख्ती से बनाए रखने के आदेश जारी किए हैं। मुख्यमंत्री द्वारा ङ्क्षहसा के दौरान घायल हुए सभी पीड़ितों का इलाज सरकारी खर्चें पर करने का ऐलान भी किया जा चुका है।

फगवाड़ा में अधिकांश स्कूल व शैक्षिक संस्थाएं आज बंद

सूचना के अनुसार शहर की कई स्कूल मैनेजमैंट कमेटियों ने स्कूलों को 17 अप्रैल तक शहर में बने हुए गंभीर हालात के दृष्टिगत रख खुद ही बंद करने की घोषणा कर दी है। इस दौरान सरकारी तौर पर फगवाड़ा में स्कूलों व शैक्षिक संस्थाओं को बंद करने की कोई घोषणा नहीं की गई है।

जतिन ने हिन्दू शिवसेना यूथ विंग के प्रधान पद से दिया इस्तीफा

फगवाड़ा में हुई जातीय हिंसा से आहत होकर हिन्दू शिवसेना यूथ विंग के फगवाड़ा प्रधान जतिन सेठी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। पत्रकारों से वार्तालाप करते हुए जतिन सेठी ने कहा कि जो कुछ घटा है वह उससे दुखी हैं और अब उनका न तो हिन्दू शिव सेना यूथ विंग से कोई वास्ता है और न ही किसी अन्य कट्टरपंथी हिन्दू संगठन से कोई संबंध है।

आगे पढ़े पूरी खबर

  • 719
    Shares

LEAVE A REPLY