विधायक सिमरजीत सिंह बैंस ने मारी वेरका मिल्क प्लांट में रेड, दो सौ करोड़ रूपये की ठगी का किया पर्दाफाश


लोक इंसाफ पार्टी के प्रमुख एवं विधायक सिमरजीत सिंह बैंस ने आज भ्रष्टाचार के विरुध छेड़ी मुहिम को तेज करते हुए फिरोजपुर रोड स्थित वेरका मिल्क प्लांट में चल रही वार्षिक दो सौ करोड़ रूपये की ठगी का पर्दाफाश किया और इस बात का खुलासा किया कि किस प्रकार से मिल्क प्लांट दूध के कम फैट को लेकर ठगी करके लोगों को महंगा दूध बेच रहा है। बैंस आज सुबह मीडिया के साथ मिल्क प्लांट पहुंचे जहां पर उन्होंने वेरका मिल्क प्लांट के बाहर दुकान से खरीदे गए दूध के पैकेट में से मौजूद दूध की फैट व एसएनएफ की जांच मिल्क प्लांट के भीतर ही बनी लेब्रोरोटेरी से करवाई। जिस दौरान बैंस ने आरोप लगाया कि इस चैकिंग के दौरान दूध की फैट साढ़े चार की बजाये 4.1 व एसएनएफ 8.5 की बजाये 8.1 पाई गई है। इस बारे में पत्रकारों से बातचीत करते हुए विधायक सिमरजीत सिंह बैंस ने बताया कि वेरका मिल्क प्लांट में तकरीबन दो सौ करोड़ रूपये प्रति साल की ठगी हो रही है। जिसके मद्देनजर उनके द्वारा पिछले 15 दिनों से लिप के वालंटियर्स को निगरानी के लिए कहा था तथा जिसमें उन्हीने पाया कि यहां पर बड़ी भारी मात्रा में लोगों से ठगी की जा रही है। बैंस के अनुसार वेरका के पैकेट में फैट 4.5 फैट व एसएनएफ 8.5 लिखा है। उन्होंने बताया कि लिप वालंटियर्स पिछले पंद्रह दिन से इसे चेक कर रहे थे तथा जिसे आज विभागीय अफसरों और मीडिया कर्मियों के सामने लाइव चेक किया गया।

जिसकी दूध की चैकिंग वेरका मिल्क प्लांट की अपनी लैब, डेयरी विभाग की लैब सहित चंडीगढ व मोहाली की मान्यता प्राप्त लैब से वेरका दूध की फैट व एसएनएफ की जांच करवाई गई तो यह फैट 4.1 व एसएनएफ 8.1 पाया गया। बैंस ने कहा कि वेरका रोजाना करीब 11 लाख दूध के पैकेट की सप्लाई करता है और इसमें रेट से पांच रूपये से छह रूपये अधिक वसूल रहा है। जिसके अनुसार रोजाना की 53 लाख 75 हजार प्रतिदिन की ठगी हो रही है तथा साल की दो सौ करोड़ की ठगी बनती है। बैंस ने आरोप लगाया कि इसमें नीचे से लेकर उपर तक के अधिकारी मिलीभगत है। बैंस ने कहा कि यदि यही दो सौ करोड़ किसान व डेयरी फार्मर को दिया जाए तो आत्महत्याएं न हो। उन्होंने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरेंद्र सिंह से कहा कि वह लोगों के बीच आकर पंजाब की जनता की बात और मुश्किलों के बारे में ध्यान दें और इस माफिया पर नकेल कसते हुए उचित कार्यवाही की जायें|

  • 366
    Shares

LEAVE A REPLY