पीएनबी ने लुधियाना में रक्तदान शिवर लगा कर मनाया स्थापना दिवस


Blood Donation Camp Organised by PNB in Ludhiana on Foundation Day

लुधियाना – राय मूलराज व लाला लाजपतराय ने अपने कुछ मित्रो के साथ मिलकर स्वदेशी पूंजी से स्वदेशी बैंक बनाने का विचार किया। इस तरह 19 मई 1894 को पंजाब नैशनल बैंक की स्थापना हुई। विभिन्न क्षेत्रों के जानेमाने 7 लोगो ने मिलकर स्वदेशी भावना से पहले बोर्ड ऑफ डायरेक्टरर्स ने मिलकर 12 अप्रेल 1895 को इस बैंक के दरवाजे आम जनता के लिये खोले। 123 वर्षो की यात्रा में वर्तमान में यह तो 10 मिलियन से ज्यादा ग्राहकों की सेवा पूर्ण समर्पण से करते आ रही हैं। बैंक ने अपनी स्थापना से लेकर आज तक विभिन्न कठिनाईयों को झेला हैं। यथा विश्व यद्ध, 1947 के बंटवारे में दो तिहाई शाखाओ का खोना, 1990 में न्यू बैसल नार्म्स का प्रादुर्भाव आदि कठिनाईयों के बाद बैंक और मजबूती के उभर कर आया हैं। फिर से आई ‘नीरव मोदी स्कैम’ की चुनौती से भी निपट लेंगे।

27 सितम्बर 1964 को स्थापित ऑल इंडिया पंजाब नैशनल बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन 53 वर्षो में सितम्बर 2017 को 27000 सदस्यों साथ बैंकिग इंडस्ट्री में तीन लाख बीस हजार सदस्यों वाले आईबोक का सबसे बड़ा घटक हैं। हमारा जिम्मेदार संगठन विभिन्न लोकोपयोगी यथा अनाथालय, विद्यालयों, वृद्धाश्रम, दिव्यांगों, आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के बच्चो की शिक्षा जैसे कार्यक्रमो में समय समय पर सहयोग करते रहते है। हमारे द्वारा विभिन्न स्थलों पर रक्तदान, नेत्रदान, स्वास्थ्य शिविर लगाकर समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को वहन किया जाता हैं।

वर्तमान कठिन दौर में सम्पूर्ण भारत के 76 सर्कल व प्रधान कार्यालय मे एकसाथ रक्तदान शिविर का आयोजन कर 5000 यूनिट ब्लड डोनेशन का किर्तिमान बनाने जा रहा हैं। कश्मीर से कन्याकुमारी व गुजरात से गौहाटी तक रेडक्रास, आईएमए, जिला अस्पताल, ब्लड बैंक के सहयोग से यह रक्तदान शिविर सम्पन्न होगा। 120 करोड़ की आबादी वाले देश मे 3 मिलियन ब्लड यूनिट़ की नितांत आवश्यकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार देश को प्रतिवर्ष 12 मिलियन आवश्यकता के बदले केवल 9 मिलियन ब्लड यूनिट ही प्राप्त होते है। स्वस्थ्य इंसान के शरीर मे 35 से 45 दिनों में फिर से रक्त औनिर्माण हो जाता हैं। गर्मियों में रक्त की आपूर्ति और कम होती हैं। ऐसे समय पंजाब नैशनल बैंक के अधिकारी प्रत्येक केंद्र में रक्तदान करेंगे। हम आम जनता से भी अपील करते है कि वे इस पुनीत कार्य मे आगे आये। रक्तदान जीवनदान हैं।

  • 231
    Shares

LEAVE A REPLY