जख्मी हुए भाई ने नहीं हारी हिम्मत छोटी बहन का हाथ पकड़ पैदल 100 मीटर दूर घर पहुंचा – देखें वीडियो


Loading Video Please Wait

आजकल के समय में रिश्तों में प्यार सिर्फ नाम के बराबर ही रह गया है पर इन रिश्तों में सबसे अच्छा रिश्ता भाई बहन का रिश्ता है जिसमें आज भी भाई बहन एक दुसरे के लिए हर संभव कार्य करते है| ऐसे ही भाई बहन का रिश्ता और आपसी प्यार मध्यप्रदेश के इंदौर में देखने को मिला जिसमें बुधवार दोपहर 2 बजे बड़वानी जिले के बुदी गांव में छोटी बहन सीमा ने बेर खाने की जिद की। इकलौती बहन की इच्छा को पूरी करने के लिए 8 वर्षीय सूरज बेर के पेड़ पर चढ़ गया। बेर की डालियां पतली थी, जिसे सूरज समझ नहीं पाया। डालू टूटने से वो जमीन पर गिर पड़ा और एक लकड़ी उसके सीने के आरपार हो गई। सीने से खून निकलने लगा, बावजूद इसके सूरज ने हिम्मत नहीं हारी। उसने जिम्मेदारी निभाते हुए 6 साल की बहन का हाथ पकड़कर बोला- चलो घर। करीब 100 मीटर तक दर्द से कराहते वो बिना किसी सहारे के बहन का हाथ पकड़े घर की चौखट पर पहुंचा। घर के दरवाजे पर वह बेहोश होकर गिर पड़ा। बहन की आवाज सुनकर पिता सखाराम बाहर आए। वो डांटने ही वाले थे कि बेटी कहा- पापा! भैया को मारना मत। मेरी जिद की वजह से भैया का ये हाल हुआ है। बेटी ने इस हादसे की पूरी कहानी बता दी। बेटी की बात सुनकर परिवार का कोई सदस्य भाई-बहन को कुछ न कह सका। बेटे को गोद में उठा लिया और जिला अस्पताल लेकर आए। दोपहर 3.30 बजे डॉक्टर्स ने प्राथमिक इलाज के बाद इंदौर रैफर कर दिया।

 


LEAVE A REPLY