सी.एम.सी हस्पताल के डॉक्टरों और कर्मचारियों ने मनाया डॉक्टर दिवस


राष्ट्रीय चिकित्सकों का दिवस पूरे भारत में 1 जुलाई को पौराणिक चिकित्सक और पश्चिम बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री, डॉ. बिधान चंद्र रॉय को सम्मानित करने के लिए मनाया जाता है, जिन्हें देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार, भारत रत्न से सम्मानित किया गया था। उनका जन्म 1 जुलाई 1882 को हुआ था और 1962 में 80 साल की उम्र में इसी तारीख को उनकी मृत्यु हुई।

इस अवसर पर 80 से अधिक डॉक्टर और कर्मचारी सी.एम.सी के ऑडिटोरियम में इकट्ठे हुए और इस बारे में चर्चा की के डॉक्टर रोगियों के लिए अस्पतालों को और बेहतर कैसे बना सकते हैं। इस अवसर पर बोलते हुए, सी.एम.सी लुधियाना के एसोसिएट निर्देशक डॉ. ध्रुव घोष ने कर्मचारियों और डॉक्टरों को प्रोत्साहित किया और उन्हें इस दिन बधाई दी और कहा कि डॉक्टर समाज का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं और अपने समर्पण और मनवता की सेवा के द्वारा इस दुनिया को एक बहतर स्थान बना सकते हैं ।

इस अवसर को चिह्नित करने के लिए डॉ. रजनीश काल्टन, डॉ. नालिनी काल्टन और डॉ. जुगेश चटवाल ने डॉक्टर डे का केक काटा। आज के संदेश को आगे बढ़ाते हुए डॉ. अनिल लूथर ने कहा कि समाज इस दर्द से भरी दुनिया में आज डॉक्टरों को आशा से देखते हैं और डॉक्टरों को मरीजो की मदद करने के लिए हर संभव कोशिश करनी चाहिए, जैसे के डॉ. एडिथ मैरी ब्राउन इस देश में एक मिशनरी के तौर पे 1894 में आए और इस क्षेत्र के बिमारो और जरूरतमंदों की मदद के लिए इस अस्पताल की शुरुआत की।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY