पंजाब में औद्योगिक विकास को प्रोत्साहित करने के लिए लुधियाना व फगवाड़ा में 2 कॉमन फैसिलिटी सेंटर खोलने की केन्द्र सरकार ने दी मंजूरी


Center Government Allow to Open Two Common Facilitation Centers in Phagwara and Ludhiana

पंजाब में औद्योगिक विकास को प्रोत्साहित करने के लिए 30 करोड़ रुपए की लागत से दो कॉमन फैसेलिटी सैंटर (सी.एफ.सीज.) स्थापित करने की मंजूरी दी गई है। केन्द्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग मंत्रालय के सचिव अरुण कुमार पांडा की अध्यक्षता में हुई मंत्रालय की बैठक में इन सैंटरों को मंकाूरी दी गई।

प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि तेल निकालने के लिए स्पेलर बनाने का फैसिलिटी सैंटर लुधियाना में तथा फाउंडरी एंड जनरल इंजीनियरिंग कलस्सर फगवाड़ा में स्थापित किया जाएगा। दोनों सैंटर 15-15 करोड़ रुपए की लागत से स्थापित किए जाने हैं जो 24 महीनों में चालू हो जाएंगे। प्रवक्ता ने बताया कि आईल एक्सपैलर फैसिलिटी सैंटर बनने से वार्षिक 100 करोड़ रुपए से 250 करोड़ की निर्यात क्षमता को बढ़ावा मिलेगा और 2000 से 3500 लोगों को रोजगार मिल सकेगा। फगवाड़ा में स्थापित किया जाने वाला केंद्र उत्तर भारत में अपनी किस्म का पहला केंद्र होगा जहां रिवायती कच्चे लोहे पर आधारित डीजल इंजनों के विकल्प के तौर पर एलुमीनियम आधारित डाई इंजन तैयार किए जाएंगे।

रिवायती डीजल इंजन आमतौर पर सेमग्रसत इलाकों में से पानी निकालने और कृषि पंप सैटों के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं। एलुमीनियम डाई आधारित नई प्रौद्यौगिकी से पंजाब के किसानों को बहुत फायदा होगा क्योंकि इससे लागत कीमत 6000 रुपए प्रति एकड़ तक घट जाएगी। एलुमीनियम डाई इंजन बनाने के लिए आधुनिक इंटेग्रिश-300 मशीन से लैस फैसिल्टी सैंटर से इंजनों की मांग पूरी होगी तथा अतिरिक्त उत्पादन देश के बाकी हिस्सों में सप्लाई किया जाएगा जिससे इस क्षेत्र में चीन और जापान से मुकाबला किया जा सकेगा।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY