पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में नया पश्चिमी विक्षोभ हुआ सक्रिय, उत्तर भारत में अभी ओर बढ़ेगी ठंड


India Cold Wave

इन दिनों सर्दी और कोहरे के कारण दिल्ली एवं उत्तर भारत के लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है पर आने वाले दिनों में भी लोगों ठंड और शीतलहर से किसी प्रकार की राहत मिलती हुई नहीं दिखाई दे रही है| ठंड से बचने के लिए लोग अलाव एवं रैन बसेरों का सहारा ले रहें है| स्काईमेट वेदर के अनुसार, पश्चिमी हिमालय में एक नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हुआ है। इससे मध्य पाकिस्तान और राजस्थान में साइक्लोनिक सर्कुलेशन बन रहा है, जिससे बारिश होगी। इसके बाद पहाड़ों की ठंडी हवा सर्दी को और बढ़ाएगी। इससे दिल्ली-एनसीआर समेत पूरा उत्तर भारत एक बार सर्दी की चपेट में आ जाएगा।

वहीं, पश्चिमी हिमालय में एक नए पश्चिमी विक्षोभ से मंगलवार से बृहस्पतिवार तक दिल्ली-एनसीआर में भी मध्यम बारिश दर्ज होगी। इससे शुक्रवार से अधिकतम और न्यूनतम तापमान में काफी कमी आ सकती है। हालांकि इस दौरान धूप होती रहेगी। इससे पहले घने कोहरे और तेज रफ्तार बर्फीली हवा से सोमवार को दिल्ली वालों की कंपकंपी छूट गई। सोमवार इस मौसम का सबसे घना कोहरा वाला दिन रहा। सुबह 10 बजे तक भी लोगों को वाहनों की हेड लाइट और इंडीकेटर जलाकर चलना पड़ा। पालम में तो दृश्यता का स्तर महज 50 मीटर ही रह गया था। वहीं, सफदरजंग में सुबह साढ़े 5 बजे दृश्यता 200 मीटर थी जो साढ़े 8 बजे महज सौ मीटर रह गई।

इतना ही नहीं, तीन सालों के दौरान चार फरवरी का सबसे कम तापमान भी इसी दिन दर्ज किया गया। हालांकि, दोपहर में धूप खिलने पर लोगों को कोहरे के साथ ही ठिठुरन से भी राहत मिली। मंगलवार शाम बारिश होने के आसार हैं। इस दौरान दिल्ली के कई हिस्सों में तेज हवा भी चलेगी, जिससे ठंड और बढ़ जाएगी। मौसम विभाग के मुताबिक, सोमवार को अधिकतम तापमान सामान्य स्तर पर 23.2 डिग्री सेल्सियस, जबकि न्यूनतम सामान्य से एक कम आठ रहा। नमी का स्तर 54 से 100 फीसद दर्ज किया गया। मंगलवार को अधिकतम तापमान 23 और न्यूनतम 10 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है।

कोहरे के कारण रेल परिचालन एवं हवाई सेवा हुई बुरी तरह से प्रभावित

ठंड और कोहरे का प्रकोप बढ़ने से यात्रियों की मुसीबतें भी बढ़ गई हैं। रेल परिचालन बुरी तरह से बाधित है। शताब्दी व राजधानी जैसी तेज गति वाली ट्रेनों की चाल भी धीमी हो गई है, जिससे यात्री कंपकंपाती सर्दी में प्लेटफॉर्म पर समय बिताने को मजबूर हो रहे हैं।मंगलवार को दिल्ली आने-जाने वाली 24 ट्रेनें देरी से चल रही हैं, जबकि कई के समय में बदलाव और कुछ को रद कर दिया है। वहींइंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (आइजीआइ) पर कोहरा होने के कारण सोमवार को विमान संचालन पर खासा असर पड़ा। सोमवार सुबह आइजीआइ एयरपोर्ट पर कोहरे के कारण सामान्य दृश्यता का स्तर शून्य तक चला गया था। हालांकि, रनवे पर स्थिति इससे बेहतर थी। लिहाजा तकनीक के जरिये उड़ानों का संचालन किया गया। इस दौरान 200 से ज्यादा उड़ानें प्रभावित हुईं। हालांकि, किसी उड़ान के डायवर्ट अथवा रद होने की सूचना नहीं है। देरी के कारण यात्रियों को परेशानी हुई। दोपहर बाद दृश्यता ठीक होने पर स्थिति सामान्य हुई।

  • 175
    Shares

LEAVE A REPLY