सैक्टर-32 में डिलीवरी मैन की बहादुरी से 4 लाख रुपए की लूट का प्लान हुआ फेल – 32 बोर का रिवॉल्वर छोड़ भागे दोनों लुटेरे


Loot Incident Failed

कल शाम को 4.30 बजे सैक्टर-32 की मार्कीट में स्थित प्राइवेट बैंक में पैसे जमा करवाने आए गैस एजैंसी के डिलीवरी मैन की बहादुरी से 4 लाख रुपए की लूट का प्लान फेल हो गया। डिलीवरी मैन के आगे दोनों लुटेरे 32 बोर का रिवॉल्वर व डिलीवरीमैन की जमीन पर बिखरी पड़ी नकदी छोड़कर मोटरसाइकिल पर फरार हो गए। पता चलते ही थाना डिवीजन नं. 7 की पुलिस घटना स्थल पर पहुंचकर जांच में जुट गई है, जबकि पूरे इलाके की नाकाबंदी कर दी गई है। समराला चौक स्थित अवतार फ्लेम सैंटर के डिलीवरी मैन अमानत अंसारी (46) वासी भामियां रोड ने बताया कि वह लगभग 30 वर्ष से उक्त गैंस एजैंसी में काम कर रहा है।

शाम के समय एजैंसी मालिक ने उसे बैंक में पैसे जमा करवाने के लिए भेज दिया और स्कूटर पर सैक्टर-32 की मार्कीट में पहुंच गया। जब वह स्कूटर की डिक्की से नकदी भरा लिफाफा निकालकर बैंक के अंदर जाने लगा तो बाइक सवार दोनों लुटेरे उसके पास आकर रुक गए| मोटरसाइकिल चला रहे लुटेरे ने चेहरा ढका हुआ था, जबकि पीछे बैठा लुटेरा उसके पास आकर लिफाफा छीनने लगा। नकदी देने की बजाय वह उससे उलझ पड़ा तभी लुटेरे ने 32 बोर का रिवॉल्वर निकाल लिया लेकिन उसने डरने की बजाय उससे हाथापाई शुरू कर दी। डिलीवरी मैंन ने बताया की मोटरसाइकिल पर नम्बर नहीं लगा था।

मोती नगर की तरफ से आए थे दोनों लुटेरे, 4 जिंदा कारतूस भी बरामद

पुलिस के अनुसार इलाके में लगे स्मार्ट सिटी कैमरों की फुटेज खंगाली गई है जिसमें पता चला है कि दोनों लुटेरों की आयु 32 से 35 वर्ष के मध्य है और दोनों ने हल्की दाड़ी रखी है। लुटेरे मोती नगर में एक स्विट शॉप की तरफ से वारदात करने आए थे और उसी रास्ते से फरार हो गए। पुलिस का दावा है कि जल्द केस सुलझा लिया जाएगा। पुलिस के अनुसार बरामद रिवॉल्वर यू.एस.ए. मेड है, जबकि 4 जिंदा कारतूस भी बरामद हुए हैं। सी.पी. की तरफ से शहर में किए गए हाई अलर्ट की हवा निकल गई। अगर डिलीवरी मैन मुकाबला न करता तो शायद काफी बड़ी लूट की वारदात होने के साथ किसी की जान भी जा सकती थी।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY