शहर के 1350 निजी स्कूलों की चैकिंग के लिए पहुंचेंगी शिक्षा विभाग की टीमें – इन मानकों के आधार पर होगी चैकिंग


students

सर्दियों की छुट्टियां खत्म होने के बाद शिक्षा विभाग की विभिन्न टीमें जिले में 1350 प्राइवेट अनएडिड स्कूलों की चैकिंग करने के लिए पहुंचेंगी। सरकार के आदेशों के बाद डायरैक्टर शिक्षा विभाग ने उक्त आदेश समूह जिला शिक्षा अधिकारियों को जारी करते हुए कहा कि चैकिंग की पूरी रिपोर्ट बनाकर तय समय में विभाग को भेजी जाए।

बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार द्वारा इस बार से स्कूलों की मान्यता लेने या रिन्यू करने के नियमों में किए संशोधन के आधार पर विभाग की टीमें स्कूलों के दस्तावेजों की चैकिंग करेंगी। सूत्र बताते हैं कि अगर किसी स्कूल की दस्तावेजी प्रक्रिया में कोई कमी पाई गई तो उसकी बाकायदा अलग एक रिपोर्ट बनाकर विभाग द्वारा संबंधित बोर्ड को कार्रवाई के लिए भेजी जाएगी।

फायर व बिल्डिंग सेफ्टी सर्टीफिकेट की अंतिम तारीख होगी नोट

सरकार के आदेशों के मुताबिक डी.पी.आई. ने डी.ई.ओज को एक परफोर्मा भी जारी किया है, जिसमें विभागीय टीमों द्वारा संबंधित स्कूल की इंस्पैक्शन के दौरान भरा जाना है। यही नहीं स्कूलों में नॉन टीङ्क्षचग स्टाफ को सैलरी किस तरीके से मिल रही है उसकी डिटेल भी टीमों को भरनी होगी, जबकि स्कूलों के पास मौजूद फायर व बिल्डिंग सेफ्टी सर्टीफिकेट की अंतिम तारीख भी टीमें नोट करेंगी। मोहाली स्थित शिक्षा विभाग द्वारा चैकिंग के लिए बाकायदा अपनी ओर से कई टीमें अलग से बनाई गई हैं।

3 में से 2 अधिकारी अपने मौजूदा पद पर ही नहीं

ताजुब की बात यह है कि लुधियाना के स्कूलों की चैकिंग के लिए जिन 3 अधिकारियों के नाम विभाग के आलाधिकारियों द्वारा भेजे गए हैं उनमें से 2 तो अपने उस पद पर तैनात ही नहीं हैं, जबकि एक अधिकारी का तबादला हो चुका है। हालांकि स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि विभाग द्वारा जारी पत्र में बाकायदा लिखा गया है कि अगर किसी अधिकारी की बदली हो गई है तो उसके स्थान पर दूसरे किसी अधिकारी की ड्यूटी लगाकर रिपोर्ट भेजी जाए।

स्कूल्स विभागीय टीमों का चैकिंग कार्य में दें सहयोग

इस बाबत डिप्टी डी.ई.ओ. आशीष कुमार शर्मा ने बताया कि जो प्राइवेट अनएडिड स्कूल सर्दी की छुट्टियों के बाद खुलेंगे उनकी चैकिंग विभागीय आदेशों के मुताबिक इसी हफ्ते से होगी। जैसे-जैसे स्कूल खुलते जाएंगे त्यों-त्यों इस प्रक्रिया को मुकम्मल किया जाएगा। विभाग के परफोर्मा के आधार पर स्कूलों की चैकिंग करके रिपोर्ट आलाधिकारियों को भेजी जाएगी। स्कूलों को चाहिए कि चैकिंग टीमों को इस कार्य के लिए पूरा सहयोग दें।

इन मानकों के आधार पर होगी चैकिंग

  • क्या स्कूल परिसर में किताबें व वर्दियां बेची जा रही हैं?
  • क्या स्कूल ने फीस में 8 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि तो नहीं की?
  • स्टूडैंट्स फीस बारे कोई बोर्ड सार्वजनिक तौर पर डिस्पले तो नहीं किया?
  • क्या फायर व बिल्डिंग सेफ्टी सर्टीफिकेट की मियाद खत्म तो नहीं?
  • क्या लड़के-लड़कियों के लिए अलग-अलग शौचालय हैं?
  • स्कूल की प्रति कक्षा में स्टूडैंट्स की गिनती?
  • पंजाबी विषय को लाजिमी किया या नहीं?
  • जात-पात व अपंगता के आधार पर स्टूडैंट्स का शोषण तो नहीं हो रहा?
  • नॉन टीङ्क्षचग कर्मचारियों को मिल रही सैलरी का प्रारूप?
  • क्या स्कूल द्वारा स्टूडैंट से ली जा रही राशि की रसीद उन्हें मिल रही है?

LEAVE A REPLY