पर्यावरण मंत्री ने लिया बुडढा नाला का जायजा, डाइंग उद्योग पर दिखाई सख्ती- दो महीने में प्रदूषण मानक पूरे करें डाइंग उद्योग


Environment Minister OP Soni Visit Buddha Nala in Ludhiana

पर्यावरण मंत्री ओपी सोनी बुडढा नाला का जायजा लेने लुधियाना पहुंचे। सर्किट हाउस में मीटिंग के बाद सोनी निगम अफसरों व विधायकों के साथ बुड्ढा नाला के किनारे पहुंचे। नाले में गंदगी देख मंत्री अफसरों पर बिफरे और उन्होंने अफसरों को दो टूक कह दिया कि बुढ्डा नाला को साफ सुथरा बनाना मुख्यमंत्री की प्राथमिकता है। इसलिए अफसर नोट कर लें कि जहां भी लापरवाही हुई वहां कार्रवाई होना तय है। पर्यावरण मंत्री ओपी सोनी ने डाइंग उद्योगों के साथ सर्किट हाउस में बैठक की। बैठक में उद्यमियों की समस्या सुनने के बाद मंत्री ने कहा कि उद्योग जगत अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं, उनको बंद नहीं होने दिया जाएगा, लेकिन पर्यावरण को नुकसान भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सोनी ने डाइंग उद्योग को अल्टीमेटम दिया कि दो माह के भीतर प्रदूषण मानक पूरे किए जाएं और गंदे पानी को सही ढंग से ट्रीट किया जाए। इसके बाद कानून के अनुसार इकाईयों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही नियमों का उल्लंघन करने वाले उद्यमियों का साथ देने वाले अधिकारियों को भी नहीं बख्शा जाएगा।

ओपी सोनी नाले की सफाई का जायजा लेने के लिए चांद सिनेमा पुल के पास पहुंचे। जहां गंदगी ही गंदगी थी। गंदगी देखते उन्होंने अफसरों को यहां तक कह दिया कि गंदगी की वजह से इतनी बू आ रही है ऐसे में आसपास के लोग कैसे रहते होंगे? उन्होंने निगम अफसरों से कहा कि अगर समय रहते नाले की सफाई नहीं हुई तो आसपास के इलाके भी पानी में डूब जाएंगे। मंत्री ने निगम कमिश्नर जसकिरण सिंह को कहा कि नाले की सफाई में तेजी लाई जाए ताकि इसमें जमा कूड़ा साफ हो। चांद सिनेमा पुली से पहले मंत्री रेलवे ब्रिज के पास भी गए थे। वहां पर भी नाले में गंदगी की भरमार थी। इस दौरान कैबिनेट मंत्री भारत भूषण आशु, संजय तलवार, मेयर बलकार सिंह संधू, निगम कमिश्नर जसकिरण सिंह, सीनियर डिप्टी मेयर श्याम सुंदर मल्होत्रा व अन्य उपस्थित थे।

मंत्री ओपी सोनी ने कहा कि नाले में 90 फीसद पानी नगर निगम का आता है। ऐसे में निगम की जिम्मेदारी बनती है कि वह पानी ट्रीट करके ही नाले में डाले। डाइंग इंडस्ट्री का केमिकल युक्त पानी भी नाले में आ रहा है। नाले की सफाई पर सीएम का फोकस है। इसके लिए एक हाईपावर कमेटी का गठन किया गया है। यह कमेटी नाले की सफाई और इसे प्रदूषण मुक्त बनाने पर काम करेगी। इसके अलावा नाले के लिए बनने वाले सभी प्रोजेक्ट की मॉनीटरिंग करेंगी।

  • 534
    Shares

LEAVE A REPLY