नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास, जेवलिन थ्रो में भारत को दिलाया पहला गोल्ड मेडल


भारत के 20 वर्षीय स्टार जेवलिन थ्रो एथलीट नीरज चोपड़ा ने एशियन गेम्स 2018 में भारत को इस स्पर्धा का पहला गोल्ड मेडल दिला दिया है। उन्होंने ऐतिहासिक प्रदर्शन के साथ अपना पुराना रिकॉर्ड तोड़कर इस सफलता को हासिल किया है। इस भारतीय एथलीट ने अपने देश को इस एशियन गेम्स संस्करण का आठवां गोल्ड मेडल दिलाया है। वो इस एशियन गेम्स की ओपनिंग सेरेमनी में भारतीय दल के ध्वजवाहक भी थे।

उन्होंने एशियन गेम्स 2018 में सोमवार को 88.06 मीटर का रिकॉर्ड थ्रो करके सीनियर गेम्स में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी पार कर दिया। उन्होंने इसी साल डायमंड लीग में फेंके गए अपने 87.43 मीटर के थ्रो को पीछे छोड़ दिया, हालांकि डायमंड लीग में वो पदक जीतने में असफल रहे थे।

इससे पहले हरियाणा के पानीपत में जन्मे नीरज चोपड़ा ने 2016 के दक्षिण एशियाई खेलों में 82.23 मीटर का थ्रो करके गोल्ड मेडल जीता था जहां उन्होंने राष्ट्रीय रिकॉर्ड की भी बराबरी की थी। उन्होंने इसी साल गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में 86.47 मीटर का थ्रो करके भी गोल्ड मेडल जीता था।

नीरज की बड़ी सफलताएं

2016 दक्षिण एशियाई खेल – गोल्ड मेडल – 82.23 मीटर

2016 एशियन जूनियर चैंपियनशिप – सिल्वर मेडल – 77.60 मीटर

2016 वर्ल्ड अंडर-20 चैंपियनशिप – गोल्ड मेडल – 86.48 मीटर

2017 एशियाई चैंपियनशिप – गोल्ड मेडल – 85.23 मीटर

2018 कॉमनवेल्थ गेम्स – गोल्ड मेडल – 86.47 मीटर

2018 सोटेविल एथलेटिक्स मीट – गोल्ड मेडल – 85.17 मीटर

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY