सर्किट हाउस पहुंचे पूर्व कैबिनेट मंत्री मदन मोहन मित्तल ने नशे खिलाफ कदम उठाने का दिया संदेश


Former Cabinet Minister Madan Mohan Mittal Visit Circuit House in Ludhiana

लुधियाना के सर्किट हाउस में पूर्व कैबिनेट मंत्री मदन मोहन मित्तल की ओर से पहुंचकर BJP सरकार की और से किसानों को दिए गए तोहफे की उपलब्धियां गिनाई गई तो वहीं मौजूदा सरकार के कार्यकाल दौरान नशे के कारण हो रही मौतों पर अफसोस जताते हुए पंजाब की जनता को एकजुट हो नशे के खिलाफ लड़ाई लड़ने का संदेश दिया| इस दौरान पूर्व कैबिनेट मंत्री मदन मोहन मित्तल ने किसानों के प्रति आमदन को दोगुना करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का आभार व्यक्त करते हुए धन्यवाद किया तो वहीं नशे के मुद्दे पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि पंजाब में नशा बहुत फैल चुका है दिन प्रतिदिन लोग मर रहे हैं कहां की पंजाब में नशे के कारण आतंकवाद से भी बड़ा जहर फैल रहा है

इस दौरान कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा गुटखा साहिब हाथ में पकड़ कर ली गई सौगंध पर भी कई सवालिया निशान खड़े किए और कहा कि पंजाब में आज हर नौजवान चिट्टे के जहर से मर रहा है कहा कि आज पंजाब नशे की दलदल में लोगों को फसाने के लिए अफसरशाही के नाम आ रहे हैं कहा कि सरकार इस तरफ कोई भी ध्यान नहीं दे रही है| डोप टेस्ट पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि डोप टेस्ट अकेले कर्मचारियों का नहीं बल्कि उच्च अधिकारियों व नेताओं का भी होना चाहिए| इस दौरान उन्होंने रेत माफिया पर भी पूर्व सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए रेट की वाजिब मूल्य होने की बात कही और मौजूदा सरकार को निशाने पर लिया| मित्तल ने कहा कि अगर नशा हमारे मौजूदा कार्यकाल दौरान पनपा है तो लोगों ने हमें हरा दिया|

लुधियाना पंजाब को नशा मुक्त करने के लिए सरकार द्वारा डोप टेस्ट का जो निर्णय लिया गया है उसमें उद्धारण पेश करते हुये मुख्यमंत्री स्वंम टेस्ट करवा इस की शुरुआत करें यह विचार पंजाब के पूर्व मंत्री मदन मोहन मित्तल ने स्थानिय सर्कट हाऊस में पत्रकारों से बातचीत करते हुए प्रकट किये।मित्तल ने कहा कि नशा खत्म करने के लिए सभी को संयुक्त सहयोग की जरूरत है, देखना होगा कि राज्य में नशा रोकने में कहाँ-कहाँ खुफिया व सुरक्षा एजेंसियों फेल हुईं हैं। उन्होने कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा राज्य में नशा ख़त्म करने के लिए श्री गुटका साहिब की सौगंध खाने के बाद भी बिफल रहने पर गहरा दुख प्रकट करते हुए कहा कि उनसे जो उम्मीदें रख पंजाब की जनता ने उन्हें सत्ता सौपीं थी उस में वह विफल साबित हो रहें हैं।उन्होने सरकार द्वारा डेढ़ करोड़ के लगभग बने नीले कार्ड रद्द करने के निर्णय का विरोध करते हुए कहा कि सरकार गरीब, जरूरतमंद लोगों पर अपना नादिरशाही आदेश लागू कर लोगों से किये अपने वादे जिसमें दाल ,गेंहू के साथ चाय पत्ती देने से मुकर रही है।मित्तल ने केंद्र सरकार द्वारा किसानों की ऊपज पर न्यूनतम खरीद मूल्य बढ़ाने का स्वागत करते हुए कहा कि इस से किसान मजबूती से अपने पैरों पर खड़ा हो सकेगा।इस अवसर पर उनके साथ जिला अध्यक्ष रविंदर अरोड़ा, पूर्व मेयर हरचरन सिंह गोलवाडिया, शक्ति शर्मा,उपाध्यक्ष परमिंदर मेहता,महासचिव जतिंदर मित्तल, रजनीश धीमान उपस्तित रहे

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY