डिस्पोजल में मिली युवक की लाश, परिवार को हत्या की आशंका – मृतक युवक पूर्व कौंसलर का है पोता


जलंधर में पूर्व कौंसलर के पोते की लाश डिस्पोजल में मिलने से हर तरफ चर्चा का कारण बना हुआ है प्राप्त जानकारी के अनुसार शहीद भगत सिंह कॉलोनी में रहने वाले पूर्व काउंसलर कस्तूरी लाल के 9 साल के पोते राहुल उर्फ आशु की लाश घर से सौ मीटर दूर सीवरेज के 20 फुट गहरे डिस्पोजल (गंदा पानी इकट्ठा होने का स्थान) से मिली है, जिसमें करीब 12 फुट पानी था। आशु की साइकिल कुएं के पास ही खड़ी मिली थी। पोस्टमार्टम से क्लियर हुआ है कि राहुल की मौत डूबने से हुई है। उसके शरीर से गंदा पानी निकला है। शरीर पर कोई इंजरी नहीं थी। पुलिस कमिश्नर पीके सिन्हा ने भी कहा कि – राहुल की मौत डूबने से हुई। पुलिस इस घटना की पूरी तरह से जांच कर रही है की किस तरह युवक उक्त जगह पर पहुंचा और वो कैसे डिस्पोजल में गिरा या उसे किसी ने धक्का दिया था|

– राहुल अंतिम बार दोपहर 2 बजकर 20 मिनट पर सीसीटीवी में देखा गया था।
– तीन बजे उसकी साइकिल दादी को कुएं से पास मिली थी। बता दें कि काउंसलर का 9 साल का पोता बुधवार दोपहर 2 बजे घर आया था।
– कपड़े चेंज किए बिना वह नई साइकिल लेकर घूमने निकला पर वापस नहीं लौटा। पुलिस ने अपहरण का केस दर्ज कर जांच शुरू की थी।
– आशु की लाश का पोस्टमार्टम डॉ. राकेश चोपड़ा, डाॅ. तरसेम लाल और डॉ. भूपिंदर कौर के तीन मेंबरी बोर्ड ने किया।
– शरीर पर कोई इंजरी नहीं थी, राहुल ने स्कूल में लंच किया और उसके शरीर से आधा पचा खाना मिला है।

कुएं के पास सबसे पहले दादी ने देखी साइकिल

– दादी ने बताया कि बुधवार दोपहर वह किचन में थीं कि राहुल स्कूल से आते ही बैग फेंककर साइकिल लेकर चला गया, उन्होंने आवाज लगाई तो इस बीच उसकी मम्मी आ गई।
– थोड़ी देर बाद राहुल नहीं लौटा तो तलाश शुरू की। दादी ने सबसे पहले कुएं के पास साइकिल देखी।

दादा कहते रहे- हो न हो मेरा पोता यहीं है

– आशु को लापता हुए 23 घंटे गुजर चुके थे। कोई सुराग नहीं मिला। विधायक बावा हैनरी पूर्व काउंसलर के घर और फिर उस कुएं तक जहां से राहुल की साइकिल मिली थी।
– दादा बोले- पोता रेलवे लाइन तक नहीं जा सकता हो न हो पोता यहीं पर है। एक बार फिर कुएं को चैक करवाओ।
– विधायक ने निगम की एक tनहर के पास स्थित कुएं में तलाश शुरू की गई मगर राहुल नहीं मिला। दादा शांत सब कुछ देख रहे थे और यहां से ही साइकिल मिला।
– उसी डिस्पोजल के अंदर दो कर्मचारी उतारे गए, दोनों ने तलाश शुरू की तो एक कर्मचारी के पैर पर राहुल का हाथ टकराया तो शव ऊपर आ गया। 15 मिनट में लाश रस्सी से बांधकर निकाली गई। लाश को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल में भेजा गया।

सीसीटीवी में बुधवार दोपहर आखिरी बार दिखा

– पिता बोले, राहुल स्कूल से आकर पुरानी साइकिल चलाता था और 15 मिनट में लौट आता था। एक दिन दादू से बोला, मुझे नई साइकिल चाहिए।
– दादू ने कहा – पहले 80 फीसदी नंबर लाओ। 27 मार्च को रिजल्ट आने पर राहुल ने दादू से कहा, चलो नई साइकिल दिलाओ।
– दादू और पिता मकसूदां चौक के पास स्थित शोरूम में गए। राहुल ने ब्लू साइकिल पर उंगली रखी । पुरानी साइकिल किसी को दे दी। बुधवार तक बेटे ने नई साइकिल चलाई।

आगे पढ़ें पूरी खबर

  • 719
    Shares

LEAVE A REPLY