आने वाले दिनों में हो सकती है ओलावृष्टि और चल सकती है तेज हवाएं – पंजाब कृषि विश्वविद्यालय द्वारा किसानों के लिए जारी किया गया अलर्ट


 

rain-or-shine

पंजाब में गेहूं की फसल पकने वाली है। किसान गेहूं की कटाई की तैयारियां कर रहे हैं। किसानों को इस बार गेहूं का बंपर उत्पादन होने की उम्मीद है, लेकिन किसानों की उम्मीदों पर इन दिनों मौसम का बिगड़ा मिजाज पानी फेर सकता है। प्रदेश में आगामी दो दिन में वेस्टर्न डिस्टर्बेस फिर से एक्टिव होने जा रहा है। इससे किसानों के लिए मुसीबत बढ़ सकती है।इसके लिए किसानों को अलर्ट भी जारी कर दिया गया है कि 17 अप्रैल तक गेहूं की कटाई न करें।

पंजाब कृषि विश्वविद्यालय (पीएयू) के मौसम विभाग की वैज्ञानिक डॉ. केके गिल ने बताया कि 16 और 17 अप्रैल को प्रदेश में धूल का चक्रवात, ओलावृष्टि के साथ-साथ पचास से साठ किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने और बारिश की संभावना है। कुछ जिलों में तेज बारिश तो कहीं हल्की बारिश हो सकती है। डॉ. केके गिल ने बताया कि पंजाब कृषि विश्वविद्यालय के पास पांच लाख किसानों का डाटा है। इन सभी किसानों को एसएमएस और किसान एप के जरिए आगामी दिनों में मौसम के खराब होने को लेकर अलर्ट जारी कर दिया गया है।

उन्होंने बताया कि अगर उन्होंने खेतों में फसल काट कर रखी है तो उसे सुरक्षित जगह पर संभाल लें। तेज बारिश होने की सूरत में खेतों में पानी की निकासी की व्यवस्था कर लें। कटाई को फिलहाल 17 अप्रैल तक टाल दें जिससे नुकसान होने से बचाया जा सके। डॉ. गिल ने कहा कि अगर तेज हवाओं के बीच ओलावृष्टि होती है तो उससे गेहूं के साथ-साथ दूसरी फसलों को नुकसान होगा। हवाओं की वजह से फसलें बिछने की संभावना रहती है।


LEAVE A REPLY