पैरालाइज पीड़ित पत्नी को झाड़ियों में छोड़ कर पति हुआ फरार, स्वयंसेवी संस्था ने महिला को सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया


Husband Leave his sick wife in shrubs in Ludhiana

पैरालाइज से पीड़ित महिला को उसके पति द्वारा झाड़ियों में छोड़ कर चले जाने का मामला सामने आया है| बताया जा रहा है की पैरालाइज बीमारी से पीड़ित महिला पिछले पांच दिनों तक झाडिय़ों में तड़पती रही| महिला की दर्द भरी आवाज सुनकर राहगीरों ने चर्चा शुरू की तो एक स्वयंसेवी संस्था की टीम ने महिला को सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां उसका इलाज जारी है। लेकिन पति सुध नहीं ले रहा और न ही साथ रखना चाहता है। पति का कहना है कि आर्थिक तंगी के कारण वह अपनी पत्नी को साथ नहीं रख सकता है। अब सवाल है कि 57 वर्षीय महिला पति, बेटा-बहू, बेटी-दामाद के होने के बावजूद इलाज और रोटी के लिए तरस रही है। इससे यही लग रहा है कि बदलते जामने में लोग रिश्तों को भूल रहे हैं। बेटा-बहू नदारद है बेटी ससुराल में है और पति महिला को रखने से इन्कार कर रहा है, तो बीमार महिला क्या करे और कहां जाए। यह जटिल सवाल है।

बता दें कि ढंडारी खुर्द के दिल्ली हाइवे रोड के पड़ते कंगनवाल इलाके के रिलायंस पेट्रोल पंप के सामने झाडिय़ो में पैरालाइज बीमारी से ग्रस्त महिला पिछले पांच दिन से तड़प रही थी। काफी चिल्लाने के बाद लोगों को तरस आया तो उसका सहारा बने। एक शख्स ने उस महिला से पूछताछ की। जिस इलाके में यह महिला रहती थी, वहां के एनजीओ को पता चला तो वह महिला को देखने के लिए पहुंचे। इसके बाद इन लोगो ने उस महिला को 108 नंबर एंबुलेंस से सिविल अस्पताल पहुंचाया। महिला का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

महिला ने बताया कि उसका पति दुर्गा कालोनी के सीकरी चौक पर प्राइवेट फैक्ट्री में सिक्योरटी गार्ड का काम करता है। पीडि़त महिला का नाम मालती (57) है। मालती दुर्गा कालोनी गली नंबर 1 में मनीष लाला के बेहड़े के एक कमरे में अकेले रहती थी। पूरी जानकारी लेने के बाद एनजीओ के सदस्य महिला के पति को अस्पताल लेकर आए और पत्नी से मिलवाया। इस दौरान महिला के पति ने उसे अपने साथ रखने से साफ इंकार कर दिया।

महिला के पति विश्वकर्मा तिवारी ने बताया कि पिछले सात दिन पहले उसे पैरालाइज हुआ था। कई दिन तक वह एक क्लीनिक में अपनी पत्नी का इलाज करवाता रहा, लेकिन दवाई का कोई असर नही पड़ा। इसके बाद परेशान होकर उसने कंगनवाल में पंप के सामने झाड़ियों में बिस्तर लगाकर उसे वहां पर रख दिया। बीमार महिला का इलाज करवा रहे लोगों ने बताया कि वह फिलहाल महिला का इलाज करवा रहे हैं। इसके बाद वह महिला के रहने की कहीं पर व्यवस्था कर देंगे।

  • 8
    Shares

LEAVE A REPLY