देश का दूसरा आधुनिक होमी भाभा कैंसर अस्पताल संगरूर में बनकर हुआ तैयार – मरीजों को मिलेगी दवाओं पर 74% और सर्जरी पर 69 % की छूट


Indias Second Modern Homi Bhabha Cancer Hospital Build in Sangrur

टाटा मेमोरियल सेंटर मुंबई द्वारा संचालित होमी भाभा कैंसर अस्पताल की 121 करोड़ रुपए से सिविल अस्पताल में तैयार की गई नई इमारत बनकर तैयार हो चुकी है, जिसे सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह सोमवार को लोगों के सुपुर्द करेंगे। 100 बैड वाले अस्पताल में कैंसर मरीजों के ऑपरेशन, कीमों और रेडियो थैरेपी का खास प्रबंध है। मरीजों का उपचार टाटा के माहिर डॉक्टर करेंगे।

अस्पताल में कीमोथैरेपी दवाओं पर 73 प्रतिशत, साधारण दवाओं पर 74 प्रतिशत और सर्जिकल पर 69 प्रतिशत छूट दी गई है। कैंसर के मरीज के इलाज के लिए डेढ़ लाख रुपए सीएम कोटे से दिए जाते हैं। सरकार का दावा है कि ऐसा अस्पताल मुंबई में है और उसके बाद संगरूर में बनकर तैयार हुआ है, जबकि तीसरा अस्पताल विशाखापट्‌टनम और चौथा अस्पताल बनारसी में तैयार किया जा रहा है।

2013 में उस समय के पीएम डॉ. मनमोहन सिंह की सरकार ने टाटा मेमोरियल सेंटर मुंबई के सहयोग से 30 बिस्तर वाले होमी भाभा कैंसर अस्पताल की शुरूआत की थी। जिसकी इमारत शहर के सिविल अस्पताल में तैयार की गई थी। मरीजों की संख्या को देखते हुए इमारत काफी छोटी पड़ रही थी और कई सुविधाओं की भी कमी थी। जिसे लगातार पूरा करने का प्रयास किया जा रहा था।

4 ऑपरेशन थिएटर – 100 बैड वाले अस्पताल में 4 स्टेट ऑफ आर्ट ऑपरेशन थियेटर, 6 बैड वाला आईसीयू, 4 बैड वाला रिकवरी यूनिट, 48 जनरल बिस्तर, 12 सैमी प्राइवेट बिस्तर, 6 प्राइवेट बिस्तर की सुविधा दी गई है। इसके अतिरिक्त एक कांफ्रेंस रूम, ऑडिटोरियम, लेक्चरर हाल, डाॅक्टरों- प्रबंधकों और लेखा शाखा के लिए कमरों का निर्माण किया गया है।

अस्पताल में 20 डॉक्टर तैनात, छह माह में इनकी संख्या बढ़ाकर 30 की जाएगी :

पंजाब सरकार ने इंटरवेंशनल रेडियोलॉजी और आईआर सुविधा के लिए 5 करोड़ भी मंजूर किए हैं। नई इमारत पर पंजाब सरकार ने 46 करोड़ और टाटा मेमोरियल ने 75 करोड़ खर्च किए हैं। अस्पताल में एमआरआई, सीटी स्कैन, डिजिटल एक्सरे, डिजिटल मेमोग्राफी, यूएसजी समेत दो स्टेट आर्ट ऑपरेशन थियेटर और रेडिएशन ओकोलोजी के लिए सभी जरूरी मशीनों को उपलब्ध करवाया गया है। मौजूदा समय में 20 ओकोलोजी डॉक्टर तैनात हैं। आने वाले छह महीनों में इनकी संख्या बढ़ाकर 30 तक किए जाने का प्रावधान है।

एमबीबीएस कोर्स भी होंगे :

हलके के विधायक और कैबिनेट मंत्री विजयइंदर सिंगला ने बताया है कि यूपीए सरकार के कार्यकाल में प्रधानमंत्री डाॅ. मनमोहन सिंह की ओर से संगरूर व विशाखापट्‌टनम में होमी भाभा अस्पताल को मंजूरी दी गई थी। जबकि बनारसी में मौजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंजूरी दी है। भविष्य में कैंसर के उपचार के लिए माहिर डाॅक्टरों की जरूरत को पूरा करने के लिए टाटा के साथ एग्रीमेंट किया गया है। अस्पताल में ही 5 एमबीबीएस कोर्स करवाए जा रहे हैं। 1 एमएससी इन हिस्टोपैथी, बीएससी आईसीयू और डिप्लोमा इन ओकोलोजी नर्सिंग को भी शामिल किया जा रहा है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY