लुधियाना सिविल अस्पताल के कूड़े के डंप से मिले इंफ्लूंजा वैक्सीन के इंजेक्शन


लुधियाना – लुधियाना सिविल अस्पताल के कूड़े के डंप से इनएक्टिवेटेड इंफ्लूंजा वैक्सीन के इंजेक्शन मिलने से हड़कंप मच गया। यह वैक्सीन स्वाइन फ्लू से बचाव के लिए लगाई जाती है। यह इंजेक्शन तब बरामद हुए जब सफाई कर्मी कूड़े के डंप में से कूड़ा उठाकर एटूजेड की गाड़ी में डाल रहे थे। अचानक कूड़े के ढेर के बीच से इनएक्टिवेटेड इंफ्लूंजा वैक्सीन से भरा डिब्बा जमीन पर आ गिरा, जिसमें करीब 45 से अधिक इंफ्लूएंजा वैक्सीन के इंजेक्शन थे। जिस पर बैच नंबर पी.3एफ. 825वी. लिखा था और एक्सपायरी डेट मई 2018 अंकित थी। वैक्सीन के कवर पर नॉट फॉर सेल भी लिखा हुआ था। यह देखते ही सफाईकर्मी सारे इंजेक्शन उठाकर अस्पताल के फार्मासिस्ट के पास लेकर गए। जहां जांच करने पर मालूम चला कि कूड़े से बरामद वैक्सीन के बैच से मिलते जुलते इंजेक्शन अस्पताल के स्टाक भी है।

सूत्रों के मुताबिक इसी तरह के इंजेक्शन सेहत विभाग की ओर से अक्तूबर माह में सिविल अस्पताल के स्टाफ के लिए भेजे गए थे। हालांकि, डिस्ट्रिक एपिडिमोलॉजिस्ट डॉ. रमेश कुमार से जब इस बारे में पूछा गया, तो कहना था कि कूड़े के डंप में मिले इंजेक्शन सेहत विभाग द्वारा भेजे जाने वाले इंफ्लूंजा वैक्सीन के इंजेक्शन नहीं हो सकते। क्योंकि उन्होंने अक्तूबर में जो इंफ्लूंजा वैक्सीन के 100 इंजेक्शन भेजे थे, वह सिविल अस्पताल के स्टाफ को लगाए जा चुके है। वह वीरवार को सिविल अस्पताल में जाकर जांच करेंगे कि आखिर यह वैक्सीन कूड़े के डंप में कहां से आई।

  • 719
    Shares

LEAVE A REPLY