अंतरराज्यीय नशा तस्करी नेटवर्क का हुआ पर्दाफाश, कार की डिक्की में बनाए बॉक्स में छिपाकर लाते थे नशे की खेप – चार आरोपी गिरफ्तार


Interstate Drug Smuggling Racket Busted by Jagraon Police, Four Accused Arrested

जगराओं पुलिस ने अंतरराज्यीय नशा तस्कर नेटवर्क का पर्दाफाश करते हुए गिरोह के चार सदस्यों को 28 किलो भुक्की के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस जिला लुधियाना देहात के प्रभारी एसएसपी वरिंदर सिंह बराड़ ने प्रेसवार्ता में बताया कि नशा विरोधी मुहिम के तहत एसपी डी तरुण रतन, डीएसपी डी मनदीप सिंह बराड़ और सीआइए स्टाफ के प्रभारी लखवीर सिंह पर आधारित विशेष टीम का गठन किया गया था। सीआइए स्टाफ को सूचना मिली कि क्षेत्र में ऐसा गिरोह सक्रिय है, जो गाड़ियों में विशेष बॉक्स बनाकर उसमें जम्मू-कश्मीर से भुक्की लाकर जगराओं समेत पूरे पंजाब में सप्लाई करता है। इस संबध में थाना सुधार में मामला दर्ज किया गया। गिरोह को काबू करने के लिए सीआइए स्टाफ से एएसआइ गुरसेवक सिंह और एएसआइ चमकौर सिंह की अगुवाई में पुल नहर गांव तुगल पर नाकाबंदी की।

इसी दौरान टोएटा कोरोला कार (नंबर पीबी-10-बीए-6931) में आ रहे होशियार सिंह उर्फ सोनी निवासी गांव जोधां और सिकंदर मुहम्मद निवासी गांव घुगराणा थाना जोधां को रोककर चेकिंग की तो उसमें से 8 किलो भुक्की बरामद हुई। इसी तरह नाकाबंदी के दौरान महिंदरा पिकअप (नंबर पीबी-10 जीएक्स-8057) में सवार संदीप सिंह और मनजीत सिंह निवासी गांव चौकीमान की गाड़ी की तलाशी ली तो उसमें से 20 किलो भुक्की बरामद हुई। इन सभी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी ऐसे करते थे नशे की तस्करी

एसएसपी ने बताया कि इन लोगों ने भुक्की का धंधा करने के लिए अपनी कारों में विशेष बॉक्स बनवाए हुए थे जिनमें ये जम्मू-कश्मीर से भुक्की छिपा कर पंजाब में सप्लाई करते थे। यह बाक्स इन्होंने टोएटा कोरोला कार की डिक्की में टायर रखने की जगह के नीचे बनाया हुआ था। इसमें एक बार में 60-70 किलो भुक्की लाई जाती थी। वही महिंदरा पिकअप में पीछे पूरी बॉडी में ही बॉक्स बनवाया हुआ था। इसमें एक बार दो क्विंटल के करीब भुक्की वहां से लाते थे। यह तस्कर पिछले दो वर्षो से भुक्की की तस्करी कर रहे थे।

मास्टरमाइंड होशियार सिंह गिरफ्तार

इनका मास्टरमाइंड होशियार सिंह निवासी जोधां है। वह फर्नीचर का काम करता है और उसका बड़ा गोदाम है जिसमें ये भुक्की को छिपाकर रखते थे और वहां से ही आगे सप्लाई करते थे। इस बार भी यह लोग अधिकतर सप्लाई कर चुके थे। इस कारण पुलिस के हाथ अभी 28 किलो भुक्की ही लग पाई है। गिरोह के अन्य साथियों के पास भी है ऐसी 5-6 और गाडि़यां एसएसपी बराड़ ने बताया कि पूछताछ में यह सामने आया है कि इनका गिरोह काफी बड़ा है। इनके अन्य साथियों के पास भी कम से कम ऐसी 5-6 गाडि़यां है जिनमें वह इसी तरह से भुक्की की तस्करी करते है। इनके साथियों की गिरफ्तारी और गाडि़यों की बरामदगी के लिए पुलिस काम कर रही है।

जम्मू-कश्मीर हाईवे पर बने होटलों और ढाबों से होता है धंधा

एसएसपी ने आगे बताया कि पहले यह माना जाता था कि अफीम और भुक्की का धंधा अधिकतर राजस्थान से होता है। पर अब जम्मू-कश्मीर से भुक्की का धंधा होने का खुलासा हुआ है। जांच में सामने आया है कि जम्मू-कश्मीर हाईवे पर अधिकतर होटल और ढाबा मालिक इस धंधे को करते है। उनका पंजाब में बड़ा नेटवर्क बना हुआ है। इन लोगों की गिरफ्तारी के बाद अब इस नेटवर्क को तोड़ा जाएगा।

  • 45
    Shares

LEAVE A REPLY