रेलवे अफसरों के दबाव के बाद जगराओं पुल का निर्माण कार्य हुआ तेज


Construction Work at Jagraon Bridge Ludhiana (2)

रेलवे अफसरों द्वारा निर्माणाधीन कंपनी को भेजे गये नोटिस के बाद जगराओं पुल का निर्माण कार्य तेज होने लगा है| रेलवे अफसरों के दबाव के आगे आखिर कांट्रेक्टर को वर्क को अपडेट करना पड़ा। कांट्रेक्टर ने निर्माण टीम को निर्देश दिया है कि जून से पहले ओवर ब्रिज तैयार करें। ब्रिज निर्माण में देरी पर नार्दर्न रेलवे के जीएम से लुधियाना नगर निगम मेयर ने मीटिंग कर अपील की थी कि यह ब्रिज लुधियाना का लाइफ लाइन है इसलिए इसे अविलंब तैयार करवाएं। इसके बाद जीएम ने फिरोजपुर में रेल अधिकारियों की क्लास लगाई कि ब्रिज निर्माण में देरी क्यों है। जीएम के निर्देश के बाद रेल अधिकारी सकते में आ गए। फिरोजपुर रेल मंडल कार्यालय की ओर से कांट्रेक्टर को नोटिस जारी किया गया कि ब्रिज निर्माण कब तक पूरा होगा, इसका लिखित जबाव दें अन्यथा ब्रिज लेट करने के आरोप में उसे एक करोड़ का जुर्माना भुगतना पड़ेगा। इससे कांट्रेक्टर सकते में आ गए और अब ब्रिज निर्माण में तेजी शुरू कर दी है। जगराओं पुल के निर्माण को लेकर लुधियाना के सांसद, विधायक और मेयर तत्पर हैं।

मेयर ने मंगलवार को मौके का मुआयना करने के बाद रेल अधिकारियों से मीटिंग की और आगे के प्लान के बारे में जानकारी हासिल की। कांट्रेक्टर ने उठाया नक्शा लेट का मामला रेलवे के नोटिस के बाद कांट्रेक्टर ने ब्रिज के निर्माण में देरी के लिए नक्शा लेट मिलने की बात कही है। वहीं रेल इंजीनियर ने कांट्रेक्टर के आरोप को खारिज करते कहा कि अभी तक ओल्ड ब्रिज तोड़े जाने का वर्क पूरा नहीं हुआ है तो निर्माण में नक्शे का अड़चन कहां है। कांट्रेक्टर पर दबाव पड़ा कि जून से पहले ब्रिज तैयार कर सकता है तो वर्क जारी रखें अन्यथा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। इससे कांट्रेक्टर पर काफी दबाव पड़ा जिससे वर्क में तेजी लाई गई है।

लेट होने से कांट्रेक्टर पर होगी कार्रवाई

डीआरएम फिरोजपुर रेल मंडल के डीआरएम विवेक कुमार ने कहा कि जगराओं पुल का निर्माण जून से पहले तैयार करने का निर्देश जारी हुआ है। कांट्रेक्टर ने इससे पहले ब्रिज निर्माण ओके नहीं करवाया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। वैसे रेल विभाग का निर्माण पर पैनी नजर है।


LEAVE A REPLY