पर्यावरण को बचाने के साथ पेट्रोलिंग में सुधार के लिए पंजाब पुलिस ने हीरो साइकिल के लेक्‍ट्रो ई-बाइक के प्रयोग के लिये शुरू किया पायलट प्रोजेक्‍ट


लुधियाना – वायु प्रदूषण को कम करने और पर्यावरण की अधिक से अधिक रक्षा करने के साथ-साथ शहर के पैदल यात्रियों के अनुरूप अपने मोटर परिवहन को बढ़ाने के लक्ष्य के साथ पंजाब पुलिस ने अपने पेट्रोलिंग यानी गश्त के लिए इलेक्ट्रिक साइकिलों को अपनाने के उद्देश्‍य से देश की शीर्ष बाइक निर्माता, हीरो साइकिल के साथ एक पायलट परियोजना शुरू की है। कई बार पुलिस को त्‍वरित प्रतिक्रिया देने और पीछा करने के दौरान भीड़-भाड़ वाली जगहों, संकरी गलियों और सड़क यातायात जैसी बाधाओं का सामना करना पड़ता है, ऐसे में पुलिस जैसे संगठन के लिए यह बहुत ही बेहतर विकल्‍प है। ई-बाइक परंपरागत साइकिलों पर किया गया एक महत्वपूर्ण सुधार है और यह 25 किमी/घंटा तक की गति से बिना पेडलिंग के लगभग 25-30 किलोमीटर तक पहुंचने में सक्षम है। पेडल का उपयोग होने पर यह दूरी और अधिक हो सकती है। यह विकल्‍प पुलिस के परंपरागत वाहनों जैसे कि जीप और मोटरसाइकिल की तुलना में प्रदूषण भी नहीं फैलाते, भीड़ वाले और यातायात वाली जगहों पर दौड़ कर भागन वाले अपराधियों को इनकी सहायता से तेजी से और असानी से पकड़ा भी जा सकता है और इनका प्रयोग सामान्‍य परिवहन के रूप में एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए भी किया जा सकता है।

“एक सार्वजनिक एजेंसी के रूप में हमारी सुरक्षा और दायित्‍वों को निभाने के लिए कुछ स्थितियों में पंजाब पुलिस पेट्रोलिंग के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों का प्रयोग कर सकती है। ई-बाइक जरूरी स्थानों पर पुलिस की उपस्थिति में सुधार करने के साथ-साथ हमारी सड़कों को सुरक्षित रखने में भी मदद कर सकती हैं। हीरो साइकिल ने, हमें पर्यावरण के अनुकूल विभिन्न जगहों पर लेक्ट्रो ई-बाइक की प्रभावशीलता का प्रदर्शन करने का मौका प्रदान किया है। पेट्रोलिंग के अन्‍य तरीकों की तुलना में लेक्‍ट्रो ई-बाइक किफायती होने के साथ समय भी बचाती है और यह पर्यावरण के अनुकूल भी है।” ये बातें अभिषेक मुंजाल, निदेशक हीरो साइकिल ने कहीं।

“यह हमारे लिए महत्वपूर्ण है कि हम न केवल चुस्त रहें बल्कि सुरक्षित साइकिलिंग के प्रयोग के संदेश को भी फैलाएं। यह कदम समुदाय के साथ जुड़ने की हमारी वचनबद्धता के अनुरूप है, जिसका हम हिस्सा हैं। जिम्मेदार सार्वजनिक प्राधिकरण के रूप में पंजाब पुलिस हरित उद्देश्यों को पूरा करने के लिए सभी तरह के कदम उठाएगी। इसके अलावा, हम अपनी पेट्रोलिंग की प्रभावशीलता में वृद्धि करते हैं और इसके जरिए कम से कम लागत में कार्रवाई में गतिशीलता के साथ अपने संसाधनों का कुशलतापूर्वक उपयोग करते हैं।” पंजाब पुलिस के आईपीएस ड़ाँ. सुखचैन सिंह गिल ने ये बातें कहीं।

दुनिया भर की पुलिस ने, खासकर यूरोप और अमेरिका में, अपनी प्रेट्रोलिंग के लिए ई-बाइक को सफलतापूर्वक अपनाया है। यह पाया गया कि इससे पुलिसकर्मी को उसके स्थानीय स्‍तर पर एक दोस्ताना छवि मिलती है। अधिकारी संदिग्ध लोगों को तेजी से पकड़ने में सक्षम हैं और पीडि़त लोगों तक आसानी से पहुंच भी जाते हैं। इलेक्ट्रिक साइकिलें चालक को पारंपरिक साइकिल की तुलना में तेजी से यात्रा करने की अनुमति देती हैं, संकरी गलियों से लेकर यातायात वाली जगहों पर नेविगेशन के जरिये वे आसानी से पहुंच जाते हैं। इसके प्रयोग से वे ऊंचे और निचले इलाकों में आसानी से पहुंच जाते हैं, जिससे पुलिसकर्मी कार्रवाई के लिए फुर्ती के साथ तैयार रहता है।

वर्तमान में, हीरो साइकिल बाजार में सबसे सस्ती ई-बाइक उपलब्‍ध कराता है- लेक्ट्रो ई-जेफिर, जिसका मूल्य 26,909 रुपये है और इसमें प्रत्येक 100 किलोमीटर की यात्रा के लिए सिर्फ 7 रुपये की लागती आती है, जो मोटरसाइकिल के खर्च का केवल 1/50वां हिस्‍सा है। लेक्ट्रो ई-बाइक भी यातायात की समस्‍या को दूर करने में सक्षम है। हीरो साइकिल द्वारा मैनचेस्टर में किये गये विश्व स्तरीय ग्लोबल डिजाइन सेंटर के साथ-साथ यामाहा और मित्सुई के साथ इसके सहयोग ने इसे अत्याधुनिक इलेक्ट्रिक साइकिल मॉडल बनाने और बाजार में सर्वश्रेष्‍ठ बाइकों का निर्माण करने में सक्षम बनाया है जिससे इसकी तुलना दुनिया के सर्वश्रेष्‍ठ निर्माताओं में की जा सकती है।

  • 288
    Shares

LEAVE A REPLY