पुलिस ने प्रवासी मजदूर के अगवा बच्चे को कुछ घंटों में बरामद कर माँ को लौटाया, पांच आरोपी गिरफ्तार


Kidnapped Child Recovered by punjab Police from Kidnappers

कोटईसे खां के एक राइस शैलर में काम करते प्रवासी मजदूर भगवान दास के 7 माह के बच्चे मक्खन का गत दिवस मोटरसाइकिल सवार 5 व्यक्तियों ने अपहरण कर लिया गया था। पुलिस ने बच्चे को कुछ ही घंटों में बरामद कर प्रवासी मजदूर दंपति को सौंप दिया। बच्चे को उनके पड़ोस में ही खेती का काम करते सोहन सिंह उर्फ घोगी निवासी पंजग्राईं कलां हाल आबाद कोटईसे खां ने अपने घर में बच्चा न होने के कारण अपने परिजनों से मिलकर अगवा किया था।

इस संबंधी आज प्रैस कांफ्रैंस दौरान जानकारी देते हुए एस.पी. आई. वजीर सिंह खैहरा ने बताया कि कोटईसे खां की चीमा रोड स्थित गुरु कृपा राइस मिल में यू.पी. निवासी प्रवासी मजदूर भगवान दास अपनी पत्नी भूरी देवी के अलावा 4 बेटियों व 1 बेटे के साथ रहता है। गत 25 मई को साढ़े 11 बजे के करीब मोटरसाइकिल सवार 5 युवकों ने उसके 7 माह के बेटे मक्खन लाल को अगवा कर लिया था। उन्होंने कहा कि जिला पुलिस अधीक्षक राजजीत सिंह हुंदल के निर्देशों पर डी.एस.पी. सर्बजीत सिंह बाहिया, डी.एस.पी. धर्मकोट अजय राज सिंह, सी.आई.ए. प्रभारी इंस्पैक्टर किक्कर सिंह, थाना कोटईसे खां के प्रभारी इंस्पैक्टर जे.जे. अटवाल, थाना धर्मकोट के प्रभारी इंस्पैक्टर जतिंद्र सिंह के नेतृत्व में अलग-अलग टीमों का गठन कर बच्चे की तलाश शुरू की गई थी।

वहीं पुलिस ने बच्चे को गांव कडिय़ाल से बरामद कर लिया। उन्होंने कहा कि उक्त मामले का मुख्य आरोपी सोहन सिंह उर्फ घोगी प्रवासी मजदूर के साथ ही ठेके पर जमीन लेकर सब्जी की बिजाई करता था और उसकी शादी करीब 22 साल पहले हुई थी। उसके बच्चे की मृत्यु हो चुकी थी, जिस कारण वह भगवान दास को उसकी बेटी जो 14-15 वर्ष की है, से शादी करवाने के लिए कह रहा था ताकि उसके कोई बच्चा पैदा हो सके, लेकिन भगवान दास ने इंकार कर दिया। इस पर उसने अपनी पत्नी परमजीत कौर, जीजा सतपाल सिंह व बहन अमरजीत कौर उर्फ सीबो निवासी कोटईसे खां तथा कुछ अन्य से मिलकर भगवान दास के 7 माह के बेटे को अगवा करने की योजना बनाई क्योंकि भगवान दास का परिवार 1-2 दिन बाद ही वापस यू.पी. जा रहा था।

आगे पढ़े पूरी खबर
  • 1
    Share

LEAVE A REPLY