गणपति महौत्सव खत्म होते ही तन्हा हुए भगवान – देखें तस्वीरें


गणेश चतुर्थी हिन्दुओं का एक प्रमुख त्यौहार है। यह त्यौहार भारत के विभिन्न भागों में मनाया जाता है किन्तु महाराष्ट्र में यह त्यौहार बड़े पैमाने पर धूमधाम से मनाया जाता है। पुराणों के अनुसार इसी दिन गणेश का जन्म हुआ था। गणेश चतुर्थी पर हिन्दू भगवान गणेश जी की पूजा की जाती है। कई प्रमुख जगहों पर भगवान गणेश की बड़ी-बड़ी प्रतिमा स्थापित की जाती है जिनका 9 दिन तक पूजन किया जाता है। इस आयोजन में बड़ी संख्या में भग्तजन भाग ले गणपति जी के दर्शन करने पहुँचते है। 9 दिन बाद बैंड बाजे के साथ श्री गणेश जी की प्रतिमा को जल में विसर्जित किया जाता है पर आज के समय में हर तरफ जलाशयों और नदीयों के पानी को लोगों द्वारा दुषित कर दिया गया है जिस कारण लोगों द्वारा विसर्जित की गई भगवान गणपति जी की मूर्तियाँ दुषित पानी में पड़ी रहती है और भगतों के सामने एक प्रश्न चिन्ह पैदा कर देती है की जिस भगवान को उन्होंने अपने घरों में पूरी श्रधा और आस्था के साथ इतने दिनों तक रख कर पूजा की आज उसी भगवान को इन दयनीय हालातों में क्यों तन्हा छोड़ दिया|

  • 719
    Shares

LEAVE A REPLY