लोकल बॉडीज मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा निगम अधिकारीयों के खिलाफ सख्ती शुरू – ए.टी.पी. विजय कुमार का हुआ ट्रांसफर


Navjot Singh Sidhu

अवैध निर्माणों के खिलाफ कार्रवाई करने को लेकर कई बार वॉर्निंग देने के बावजूद बिल्डिंग ब्रांच अधिकारियों की वर्किंग में सुधार न होने के मद्देनजर लोकल बॉडीज मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने सख्त रुख अख्त्यार कर लिया है, जिसकी शुरूआत लुधियाना से की गई है। इसके तहत लम्बे समय से जोन डी में कब्जा करके बेठे ए.टी.पी. विजय कुमार की ट्रांसफर अमृतसर में कर दी गई है।

सिद्धू द्वारा अक्सर अवैध निर्माणों के लिए बिल्डिंग ब्रांच में फैले भ्रष्टाचार को वजह बताया जाता है, क्योंकि इन अधिकारियों द्वारा नक्शा पास करवाने के बिना बन रही बिल्डिंगों के खिलाफ चालान डालकर जुर्माना लगाने या नॉन कम्पाऊंडेबल निर्माण को गिराने की कार्रवाई नहीं की जा रही है, जिससे नियमों का उल्लंघन होने समेत नगर निगम के रैवेन्यू का नुक्सान हो रहा है।इस हालात को लेकर सिद्धू द्वारा कई बार बिल्डिंग ब्रांच अधिकारियों को अपनी वर्किंग में सुधार करने की वार्निंग दी गई लेकिन कोई असर नहीं पड़ा।

यहां तक कि सिद्धू द्वारा जालंधर में एक्शन करने के बाद लुधियाना में की जाने वाली क्रॉस चैकिंग को सियासी दबाव के चलते रुकने को लेकर बिल्डिंग ब्रांच अधिकारियों के हौसले और ज्यादा बुलंद हो गए हैं। इसके मद्देनजर सिद्धू ने अब बिल्डिंग ब्रांच अधिकारियों को अपने हाथ दिखाने का फैसला किया है, जिसकी शुरूआत विजय कुमार की अमृतसर में ट्रांसफर करने से हुई है। इसके खिलाफ मिलीभगत करके अवैध निर्माण करवाने व सैटिंग के चलते कार्रवाई न करने को लेकर थोक में शिकायतें सिद्धू के पास पहुंची हैं।

बिल्डिंग अधिकारियों के खिलाफ ड्राइव शुरू, अब अगली बारी किसकी

सिद्धू द्वारा बिल्डिंग ब्रांच अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की दिशा में जो ड्राइव शुरू की गई है उसे लेकर यह चर्चा गर्मा गई है कि अब अगली बारी किसकी होगी, क्योंकि बिल्डिंग ब्रांच का एक अधिकारी पहले दिन से सिद्धू के राडार पर है जिसके द्वारा नक्शे पास करने,

चेंज ऑफ लैंड यूज, कम्पाऊंडिंग केसों में जमकर

भ्रष्टाचार करने के अलावा अवैध बिल्डिंगों का निर्माण करवाने की बात किसी से छिपी नहीं है। मगर कांग्रेस नेताओं के आशीर्वाद के चलते यह अफसर काफी देर से बचता आ रहा है और सिद्धू की मिन्नतें भी कर चुका है लेकिन उस अधिकारी द्वारा झूठ के दम पर सभी को गुमराह करने की कोशिश अब ज्यादा दिनों तक कामयाब होने वाली नहीं है और सिद्धू ने अब इस अफसर के खिलाफ एक्शन लेने का मन बना लिया है।

कमिश्नर भी ले चुकी हैं सख्त एक्शन

सिद्धू से पहले नगर निगम कमिश्नर भी अवैध निर्माणों को लेकर सख्त एक्शन ले चुकी हैं, जिसके तहत जोन बी के ए.टी.पी. कुलजीत मांगट से चार्ज वापस लेकर उसे जोन डी की रिसैप्शन पर बिठा दिया गया था उसके बाद जोन सी के ए.टी.पी. व 2 इंस्पैक्टरों के खिलाफ चार्जशीट जारी करने की सिफारिश सरकार को भेजने के साथ & सेवादारों को सस्पैंड किया जा चुका है।

लम्बे समय से जोन डी में जमाया हुआ था कब्जा

ए.टी.पी. विजय कुमार की हैड ड्राफ्टमैन से लेकर अब तक की सर्विस के दौरान ज्यादा समय जोन डी की बिल्डिंग ब्रांच में ही पोस्टिंग रही है। यहां तक कि कुछ देर के लिए मोगा में ट्रांसफर होने के बाद वापस आने पर फिर से जोन डी में ही कब्जा जमा लिया था।

बदले जा सकते हैं ए.टी.पीज के जोन

विजय कुमार की ट्रांसफर के तहत सरकार द्वारा लखबीर सिंह को अमृतसर से लुधियाना भेजा गया है, जिसे जोन डी की बिल्डिंग ब्रांच में पोस्टिंग मिलना मुश्किल नजर आ रहा है। ऐसे में पहले से लगाए गए किसी एक ए.टी.पी. को जोन डी में लगाया जा सकता है और उससे बाकी जोन के ए.टी.पीज की ट्रांसफर भी हो सकती है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY