हिन्दू सिख एकता कोई नारा नहीं बल्कि आत्मिक सम्बन्ध है, हरी सिंह बने हिन्दू सिख जाग्रति सेना युथ विंग के सचिव


Meeting Organised by Hindu Sikh Jagrati Sena in Ludhiana

लुधियाना – हिन्दू सिख जाग्रति सेना जहाँ लम्बे समय से समाजिक मुद्दो को उठा कर अपनी समाज के प्रति जिम्मेदारी का निर्वाह करती आ रही है वही देश की एकता और अखण्डता को मजबूत करने के लिए भी क्षणिक फायदों को न देख कर दूरगामी सोच को सामने रखती है और आंतकवाद के काले दौर को याद रखते हुए हमेशा यह प्रयास करती आ रही है कि सदैव हिन्दू सिख भाईचारा बना रहे क्योंकि यह काल्पनिक नहीं बल्कि आत्मिक है उक्त शब्द प्रधान प्रवीण डंग ने सर्कट हाउस में रखी मीटिंग के दौरान कहे।

मीटिंग में संगठन का विस्तार करते हुए सर्वसहमति से हरी सिंह को संगठन के युथ विंग का सचिव नियुक्त किया गया। इस अवसर पर प्रवीण डंग ने कहा कि जिन लोगो ने आंतकवाद के उस काले दौर को नहीं देखा या जिसने किसी अपने को नहीं खोया वह आग से खेलने का प्रयास करते रहते है ऐसे लोगो पर उसी तरह कार्रवाई होनी चाहिए जैसे पाकिस्तान की आई एस आई एजेंट पर होती है क्योंकि ऐसे दुमुंही लोग देश हितैषी न होकर देश विरोधी होते है और सदैव देश की एकता और अखंडता को तोड़ने का प्रयास करते रहते है। नवनियुक्त युथ विंग के सचिव हरि सिंह ने संगठन को विश्वास दिलाते हुए कहा कि वह अपनी जिम्मेदारी का निर्वाह पूरी तनदेही के साथ करेंगे व् संगठन के विकास और प्रचार के लिए जमीनी स्तर पर जुड़ कर कार्य करेंगे और हिन्दू सिख भाईचारे को मजूबती प्रदान करेंगे। इस अवसर पर युथ अध्यख योगेश धीमान पंजाब अध्यक्ष मोहित स्याल जिला अध्यक्ष कृष्ण क्वात्रा लुधियाना शहरी अध्यक्ष अमन खन्ना इत्यादि उपस्थित थे

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY