शहर में चाइना डोर के कारण 33 लोगों के चेहरे और गले पर हुए घाव, लगे टांके


Chinese Thread for Kite Flying are Still Sales in Punjab

लोहड़ी पर युवाओं ने जमकर पतंगबाजी की। हालांकि इस खुमारी में उन्होंने कई लोगों की जिंदगी को खतरे डाल दिया और उनको लहुलूहान कर दिया। जिला प्रशासन ने रविवार को चाइना डोर की बिक्री रोकने को लेकर भले ही कुछ प्रयास किए हों। पर फिर भी शहर में ज्यादातर युवाओं ने चाइना डोर के साथ ही पतंगें उड़ाई। जिले में चाइना डोर ने करीब 33 लोगों को घायल करते हुए उन्हें गहरे जख्म दिए। इनमें कइयों के चेहरे, गले पर टांके भी लगे हैं जो अस्पताल में भर्ती भी हुए। इसके अलावा काफी लोग सड़कों पर बिजली के खंभों और तारों में कटी हुई पतंग के साथ लटकी चाइना डोर के साथ वहां से गुजरते हुए चपेट में आने से घायल हुए। इनमें से कई ऐसे मरीज भी थे जिन्होंने प्राइवेट डॉक्टरों की क्लीनिकों से इलाज करवाया।

परमेश्वर के पांव में फंसी डोर, हो गया गहरा जख्म सिविल अस्पताल में चाइना डोर से घायल होकर दो मरीज पहुंचे। इसमें से एक 76 वर्षीय परमेश्वर सिंह काफी गंभीर हालत में थे। वह चाइना डोर की चपेट में तब आए, जब वह दाना मंडी से अपने घर लौट रहे थे। पैदल जाते समय सड़क पर गिरे चाइना डोर के गुच्छे में उनका दायां पैर फंस गया। इससे पहले कि वह गुच्छे से अपना पैर निकाल पाते, एक मोटरसाइकिल सवार वहां से गुजरा और डोर के एक छोर को खींचकर अपने साथ ले गया। डोर खिंचने से परमेश्वर सिंह के पैर में गहरा घाव हो गया। इससे पहले की डोर पैर को पूरी तरह से चीरती, दूसरे राहगीरों ने उस बाइक सवार को आवाज लगाकर रोका। फिर चाइना डोर के गुच्छे से परमेश्वर के पैर को निकाला गया और तत्काल सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया। डोर के गुच्छे में उलझी उंगली, निकालते समय कटी इसी तरह जनकपुरी निवासी 25 वर्षीय राम शरणम की उंगली भी चाइना डोर की वजह से कट गई। राम फील्डगंज में कुछ खरीदने के लिए जा रहा था। तभी उसका पैर भी सड़क पर गिरे चाइना डोर के गुच्छे में उलझ गया।

गुच्छे से पैर निकालते वक्त राम की उंगली कट गई।इसके अलावा गुरु अर्जुन देव नगर निवासी आठ साल के सूरज कुमार के हाथ पर उस वक्त कट लग गया, जब वह सड़क पर कटी हुई पतंग को पकड़ रहा था। इसी तरह देर शाम को सिविल अस्पताल में ती और मरीज पहुंचे जो चाइना डोर से घायल हुए। इनमें समराला चौक के पेशावर सिंह, उपकार नगर का 11 वर्षीय नितेश कुमार और मॉडल टाउन के संजीव कुमार शामिल थे। इनमें से एक के पांव की हड्डी टूट गई है। सीएमसी में आए घायल नौ मरीज दूसरी तरफ सीएमसी अस्पताल में चाइना डोर से घायल होकर नौ मरीज पहुंचे। इसमें से आठ मरीजों को चाइना डोर की वजह से नाक व माथे पर कट लगे थे। इन मरीजों को दो घंटे के उपचार के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया। एक मरीज शिवम चाइना डोर से पतंग उड़ाते समय छत से गिर कर घायल हो गया। पुल पर गले में लिपटी डोर, दूसरे के नाक पर लगा कट डीएमसी अस्पताल में भी चाइना डोर से घायल होकर दो लोग पहुंचे। युवक ने बताया कि वह हैबोवाल से अपने दोस्त के घर जा रहा था। इसी दौरान जब वह जगराओं पुल पर पहुंचा, तो उसके गले में डोर उलझ गई। वह जमीन पर गिर पर पड़ा। इसके अलावा एक युवक के चाइना डोर की वजह से नाक पर कट लगा। दोनों युवकों की हालत स्थिर है। इनके अलावा शहर के छोटे अस्पतालों व नर्सिग होमों में भी एक दर्जन से अधिक लोग चाइना डोर से घायल होकर इलाज के लिए पहुंचे।

समराला में एक बाइक सवार के 6 और दूसरे के 12 टांके लगे संस, समराला : रविवार को लोहड़ी के त्योहार पर चाइना डोर की चपेट में आने से दो मोटरसाइकिल सवार गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हे तुरत ही समराला के सर्जीकल अस्पताल में भर्ती करवाया गया। इलाज के बाद दोनों घायलों को छुट्टी दे दी गई। घायलों की पहचान बलजिंदर सिंह और अमरजीत सिंह निवासी समराला के तौर पर हुई। यह हादसा शाम करीब 7 बजे हुआ। उनका इलाज कर रहे डॉ. तेजपाल सिंह ने बताया कि डोर के कारण एख के गले में और दूसरे के ठुडी पर गहरे जख्म हो गए।


LEAVE A REPLY