ट्रांसपोर्ट विभाग ने राज्य भर के ड्राइविंग टैस्ट सैंटरों पर काम करने वाले 250 प्राइवेट कर्मियों को हटाया


Driving test Center

ट्रांसपोर्ट विभाग ने राज्य भर के ड्राइविंग टैस्ट सैंटरों में कार्यरत 250 के करीब प्राइवेट कर्मियों की छुट्टी कर दी है। इन कर्मियों को ड्राइविंग टैस्ट सैंटर शुरू करने से पहले विहान नाम की प्राइवेट कंपनी के माध्यम से भर्ती किया गया था। प्राइवेट स्टाफ को नौकरी से निकालने से लुधियाना के दोनों सैंटरों की कारगुजारी पर भी असर पड़ेगा। लुधियाना से नौकरी से निकाले गए प्राइवेट कर्मियों की संख्या 8 है, जोकि दोनों सैंटरों पर काम संभाल रहे थे। बीते दिनों स्टेट ट्रांसपोर्ट कमिश्नर के साथ प्राइवेट कंपनी के नुमाइंदों की हुई बैठक के दौरान यह फैसला लिया गया था, जिसके बाद हर जिले को वहां से निकाले जाने वाले स्टाफ की सूची भेज कर उनकी हाजिरी न लगाने के आदेश दिए गए। सैंटरों से स्टाफ निकाले जाने के कारण वहां आने वाले दिनों में लोगों को दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि सैंटर पहले से ही स्टाफ की कमी से जूझ रहे हैं। ऐसे में स्टाफ की कटौती आम लोगों के कार्य में देरी का कारण बनेगी।

वाहन-4 की लांचिंग लटकी

वाहन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया के लिए केन्द्र सरकार के ट्रांसपोर्ट मंत्रालय से जुड़े हुए नए साफ्टवेयर वाहन-4 की लांङ्क्षचग लुधियाना में एक बार फिर से लटक गई है। पहले इसे 16 अप्रैल को लांच करने की योजना थी, लेकिन अब इसे 1 मई तक बढ़ा दिया गया है। इस संबंधी लुधियाना आर.टी.ए. आफिस को सूचित कर दिया गया है जबकि राज्य के अधिकतर आर.टी.ए. आफिसों में वाहन-4 को लागू किया जा चुका है। वहीं लांचिंग के तुरंत बाद एक सप्ताह तक आर.सी. से संबंधित सारा काम बंद रहने की संभावना जताई जा रही है।

क्या है वाहन-4

सभी राज्यों में वाहन-4 साफ्टवेयर शुरू कर देने के बाद वाहनों से जुड़ी हर सरकारी सेवा जैसे गाड़ी ट्रांसफर इत्यादि के लिए प्री-अप्वाइंटमैंट लेनी होगी। वाहन-4 को एन.आई.सी. (नैशनल इन्फॉर्मेशन सैंटर) द्वारा संचालित किया जाएगा जबकि इससे पूर्व राज्यों द्वारा अपने स्तर पर ही वाहनों की रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया की जा रही है। पंजाब में यह काम प्राइवेट कंपनी स्मार्टचिप के पास है। वाहन-4 साफ्टवेयर लागू हो जाने के बाद वाहन की रजिस्ट्रेशन व अन्य कोई सेवा के बाद उसका सारा डाटा केन्द्र सरकार के पास उपलब्ध रहेगा तथा केन्द्र सरकार को भविष्य की योजनाएं बनाने में भी आसानी रहेगी। वाहन-4 शुरू होने के बाद फैंसी नंबरों की बोली भी इसी साफ्टवेयर के माध्यम से करवाई जाएगी।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY