देश की आजादी के गौरवशाली इतिहास को स्कूल शिक्षा में प्रमुखता से शामिल करने की जरूरत – भारत भूषण आशु


लुधियाना – खाद्य नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामले विभाग के कैबिनेट मंत्री श्री भारत भूषण आशु ने कहा है की देश को अंग्रेजों की गुलामी से आजाद कराने वाले शहीदों की याद को हमेशा जीवित रखना और आने वाली पीढ़ियों को अवगत करवाना हम सभी देशवासियों का फर्ज बनता है। उन्होंने इस बात की वकालत की है कि देश की आजादी के गौरवशाली इतिहास को स्कूल शिक्षा में प्रमुखता से शामिल किया जाना चाहिए और इस विषय पर विशेष पीरियड लगने चाहिए। इस बारे वे मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के साथ बातचीत करेंगे। श्री आशु आज गुरु नानक देव भवन में महान शहीद सुखदेव जी के जन्म दिवस पर आयोजित राज्य स्तरीय समारोह को संबोधित कर रहे थे।

शहीद को फूल मालाएं आर्पित करने उपरांत श्री आशु ने कहा की शहीद सुखदेव जी एक महान क्रांतिकारी थे, जिन्होंने भारत देश को आजाद करवाने के लिए आजादी संघर्ष में अहम रोल अदा किया। शहीद सुखदेव जी देश के उन महान योद्धाओं में से एक थे, जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपनी जानें कुर्बान कर दी थीं। उन्होंने अपने बचपन से ही अंग्रेज हाकिमों की तरफ से भारतीयों पर किये जाने वाले जुल्मों को आंखों से देखा था, जिसके चलते वे स्वतंत्रता संग्राम में शामिल हुए और देश को अंग्रेज साम्राज्य से मुक्त करवाने का प्रण लिया। उन्होंने नैशनल कालेज लाहौर में भी युवाओं को देश आजाद करवाने के लिए शिक्षित किया और लाहौर में ’नौजवान भारत सभा’ बनायी, जो अन्य सामाजिक गतिविधियों के साथ साथ नौजवानों को देश को आजाद कराने संघर्ष में कूदने के लिए प्रेरित करती थी।
श्री आशु ने कहा की कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली राज्य सरकार देश के शहीदों और स्वतंत्रता संग्रामियों की विरासत को संभालने और उनके सपनों को साकार करने प्रति वचनबद्ध है, जिन बलिदानों कंे चलते हम आज आजादी का आनंद ले रहे हैं। शहीदों की याद को ताजा रखने और आने वाली पीढ़ियों को इस बारे अवगत करवाने के मकसद से ही पंजाब सरकार की तरफ से शहीद सुखदेव जी सहित उन सभी शहीदों की याद में राज्य स्तरीय समागम करवाए जाते हैं, जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपना जीवन कुर्बान कर दिया।

श्री आशु ने लोगों से अपील की है कि वे समाज में से सामाजिक कुरीतियों को बाहर निकाल फेंकने आगे आएं, यही देश के लिए शहीद होने वालों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। उन्होंने कहा की पंजाब सरकार की तरफ से शहीद दिवस इस लिए मनाए जाते हैं, जिससे लोग विशेष रूप से युवा वर्ग देश भक्ति की भावना ग्रहण कर सके। पंजाब सरकार शहीदों के परिवारों की रक्षा और उनके मान सत्कार को बहाल रखने के लिए वचनबद्ध है।

आगे पढ़ें पूरी खबर

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY