अगर आप मंगाते है Zomato,Swiggy से खाना या खरीदते हैं ग्रॉसरी तो जाने FSSAI के यह नये नियम, लोगों को होगा फायदा


फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) ने ऑनलाइन ग्रॉसरी और फूड डिलीवरी करने वाली कंपनियों के लिए नया नियम बनाया है। इस नियम से इन प्लेटफॉर्म को यूज करने वाले लोगों के फायदा मिलेगा। FSSAI का कहना है कि कस्टमर के हित को ध्यान रखने हुए नया नियम बनाया गया है। फूड प्रॉडक्ट्स की सेफ्टी और डिलीवरी से कोई समझौता नहीं किया जाएगा। इसका असर ऑनलाइन ग्रॉसरी स्टोर जैसे बिगबास्केट, ग्रोफर्स के साथ स्विगी और जोमैटो जैसी फूड डिलीवरी कंपनी पर भी पड़ेगा।

क्या है नया नियम?

  • FSSAI के नए नियम के मुताबिक, फूड डिलीवर किए जाने से पहले उसकी सेल्फ लाइफ 30% यानी एक्सपायरी से 45 दिन पहले होनी चाहिए। अगर कोई कंपनी इन नए नियमों का पालन नहीं करती है तो उस पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।
  • FSSAI का कहना है कि अब से बाजार में जो भी फूड प्रॉडक्ट्स बिकते हैं, उनकी सप्लाई चेन में कहीं भी पड़ताल हो सकती है। कंपनियों को अपने प्लेटफॉर्म पर फूड प्रॉडक्ट की डेमो पिक्चर भी देनी होगी, ताकि कस्टमर उसकी पहचान कर सकें।
  • FSSAI के CEO पवन अग्रवाल ने कहा, “आजकल बड़ी संख्या में कस्टमर्स ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म का यूज कर रहे हैं। संशोधित दिशानिर्देश जारी करने का मकसद ग्राहकों को डिलीवर किए जा रहे फूड प्रॉडक्ट्स की चौकसी बढ़ाना है। इससे ई-कॉमर्स फूड बिजनस सेक्टर पर भरोसा और विश्वसनीयता भी बढ़ेगी।”

कंपनियों का रिएक्शन

नए नियम पर ऑनलाइन ग्रॉसरी ग्रोफर्स के सीईओ अलबिंदर ढींढसा ने बताया हम सभी कानूनी शर्तों का पालन कर रहे हैं। हमारे मर्चेंट पार्टनर्स भी इनका पालन करें, हम यह भी सुनिश्चित करते हैं। वहीं, जोमैटो की तरफ से कहा गया कि हम FSSAI के हर उस कदम का स्वागत करते हैं, जिससे कस्टमर्स के लिए रेस्टोरेंट इंडस्ट्री को और सुरक्षित बनाया जा सके।

सरकार ऑनलाइन फूड पर उठा चुकी सवाल

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने अश्विनी कुमार चौबे ने संसद में कहा था कि लोगों को खाना पहुंचाने वाली ऑनलाइन कंपनियां अब तक 10,500 रेस्टोरेंट्स को डी-लिस्ट कर चुकी हैं। इन रेस्टोरेंट्स को फूड एंड सेफ्टी स्टेंडर्ड का पालन नहीं करने पर डी-लिस्ट किया गया है। जुलाई में FSSAI ने Zomato और Swiggy जैसी ऑनलाइन कंपनियों से ऐसे रेस्टोरेंट्स को डी लिस्ट करने को कहा था जो रजिस्टर्ड नहीं थे। इसी के बाद कंपनियों ने इन रेस्टोरेंट्स को डी-लिस्ट किया। अब तक Zomato 2500, Swiggy 4000, Foodpanda 1800, UberEats 2000 और foodcloud 200 रेस्टोरेंट्स को डी लिस्ट कर चुके हैं।


LEAVE A REPLY