फ्लैटों में न बिजली, न पानी, खुले में पड़ा लोगों के घरों का सामान


जगराओं पुल के पास कब्जा करके रह रहे लोगों को निगम ने मुंडियां में फ्लैट अलॉट कर दिए। कब्जाधारी जगराओं पुल से अपना सामान उठाकर मुंडियां फ्लैटों में पहुंच गए। लेकिन फ्लैटों में अभी न बिजली है और न ही पानी। कब्जाधारियों ने भी अभी अपना सामान खुले आसमान के नीचे ही रखा है और वह खुद भी खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर हैं। उनकी यह समस्या अभी अगले दो दिनों तक हल होने वाली भी नहीं है। उधर, निगम अफसरों का साफ कहना है कि अगर कब्जाधारी पहले ही अलॉटमेंट प्रक्रिया को अपनाते तो उन्हें इस तरह की परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ता।

मुंडियां के फ्लैटों में अभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं। बिजली न होने की वजह से लोगों को भीषण गर्मी से भी दो-चार होना पड़ रहा है। लोगों का कहना है कि निगम ने पानी सप्लाई के लिए जो टंकियां लगाई हैं वह भी टूटी हुई हैं। इसके अलावा कमरों में बिजली की वाय¨रग भी नहीं हुई है। उनका कहना है कि गर्मी इतनी ज्यादा है कि बिना पंखे के कमरों में रहना संभव नहीं है। इसलिए लोग अभी भी सामान समेत बाहर जमे हैं।
फ्लैटों में पानी की सप्लाई न होने की वजह से निगम ने पीने के पानी के लिए टैंकरों से सप्लाई शुरू कर दी। हालांकि टैंकरों से सप्लाई किया जाने वाला पानी नाकाफी है। लोगों का कहना है कि दैनिक क्रियाओं के लिए उन्हें पर्याप्त पानी नहीं मिल पा रहा है। 112 में से 80 परिवार ही पहुंचे मुंडियां

जगराओं पुल के साथ 112 परिवार रह रहे थे। जिनमें से 80 परिवार ही अपना सामान लेकर मुंडियां फ्लैटों में पहुंचे हैं। जबकि अन्य परिवार अलॉटमेंट लेटर लेकर इधर उधर शिफ्ट हो गए हैं। वह फ्लैट पूरी तरह तैयार होने के बाद ही वहां जाएंगे। फ्लैट इंचार्ज रमेश कुमार ने बताया कि कुछ परिवार ऐसे भी हैं जिन्होंने अभी तक कागजी कार्रवाई पूरी नहीं की।

हम दो माह से इन्हें नोटिस दे रहे थे। लेकिन किसी ने भी इसे गंभीरता से नहीं लिया। अगर इन लोगों ने पहले पैसे जमा करवाए होते तो फ्लैट पूरी तरह से तैयार करके इन्हें दिए जाते। अब बिजली और पानी की सप्लाई शुरू करने में दो दिन का वक्त लग सकता है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY