जगराओं पुल निर्माण कार्य – मेयर और जीएम की हुई मीटिंग के बाद हरकत में आये रेलवे अफसर, निर्माण कंपनी को भेजा नोटिस


Revamping Work of Jagraon Bridge Commenced in Ludhiana

जगराओं पुल निर्माण में हो रही देरी पर मेयर बलकार सिंह संधू और जीएम रेलवे आमने सामने हो गए थे। मेयर ने साफ कर दिया था कि पुल निर्माण में हो रही देरी से पूरे शहर का ट्रैफिक बाधित हो रहा है और लोगों को परेशानी हो रही है। मेयर व जीएम के बीच हुई बातचीत के बाद रेलवे अफसर हरकत में आ गए और रविवार को रेलवे अधिकारी निर्माण का जायजा लेने जगराओं पुल पहुंचे। अफसरों ने अब निर्माण कंपनी को नोटिस थमा दिया और कंपनी को सात दिन के भीतर जवाब देने को कहा। अफसरों ने साफ कर दिया कि अगर लेट लतीफी के कारणों से वह संतुष्ट नहीं हुई तो कंपनी को एक करोड़ रुपये का जुर्माना किया जाएगा।

जून से पहले पुल का निर्माण पूरा करने के दिए निर्देश

जीएम ने मेयर को भरोसा दिया था कि जगराओं पुल का निर्माण जून तक पूरा करवा लिया जाएगा। रविवार को रेलवे अफसरों ने निर्माण कंपनी के इंजीनियरों के साथ बैठक की। बैठक में रेलवे अफसरों ने कंपनी को दो टूक कह दिया कि जून माह से पहले हर हाल में पुल का निर्माण कार्य पूरा हो जाना चाहिए। अगर ऐसा नहीं हुआ तो कंपनी को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। कंपनी इंजीनियर बोले, ट्रैफिक डायवर्शन 30 मीटर आगे बढ़ाया जाए

कंपनी अधिकारियों ने रेलवे अधिकारियों को कहा कि जगराओं पुल से भारत नगर चौक की तरफ जाते हुए ट्रैफिक डायवर्शन के लिए जहां डिवाइडर को तोड़ा गया है वहां से डायवर्शन को 30 मीटर आगे बढ़ाया जाए। कंपनी इंजीनियरों का कहना है कि पुल के ऊपर काम करने के लिए पर्याप्त जगह नहीं मिल पा रही है। अगर ट्रैफिक डायवर्शन 30 मीटर आगे बढ़ाया जाता है तो उनको मटीरियल रखने के लिए जगह मिल जाएगी। अब ट्रैफिक पुलिस कंपनी अधिकारियों की सलाह पर मौका चेक करेगी। उसके बाद डायवर्शन को 30 मीटर आगे बढ़ा दिया जाएगा। जगराओं पुल पर हो रही देरी के लिए निर्माण कंपनी से जवाब तलबी की गई है। कंपनी को साफ कह दिया गया है कि अब किसी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। कंपनी ने अगर ढुलमुल रवैया अपनाया तो उन्हें जुर्माना भी किया जाएगा। – विवेक कुमार, डीआरएम, फिरोजपुर रेल मंडल


LEAVE A REPLY