पंजाब में रहने वाले लोगों को जन्म एवं मृत्यु सर्टिफिकेट मिलेंगे पंजाबी भाषा में – अंग्रेजी भाषा में इस तरह से मिलेगा सर्टिफिकेट


death and birth certificate

पंजाब सरकार की हिदायतों के बाद अब राज्य में पैदा होने वाले बच्चों का बर्थ सर्टिफिकेट और मरने वाले व्यक्ति का डेथ सर्टिफिकेट अब सिर्फ पंजाबी भाषा में ही मिलेगा। सरकार ने डेथ एंड बर्थ रजिस्ट्रार को हिदायतें जारी की हैं कि बर्थ-डेथ सर्टिफिकेट सिर्फ पंजाबी में ही जारी किए जाएं। सेवा केंद्रों ने भी अंग्रेजी में बर्थ व डेथ सर्टिफिकेट के आवेदन लेने बंद कर दिए हैं। इस वजह से अब लोगों की दिक्कतें बढऩे लगी हैं।

डेथ बर्थ रजिस्ट्रार की तरफ से जो सर्टिफिकेट जारी किए जाते हैं, वह अंग्रेजी और पंजाबी दोनों भाषाओं में प्रिंट किए गए हैं। पर सर्टिफिकेट जारी करते समय ऑपरेटर सिर्फ पंजाबी में ही आवेदक के विवरण को भरते हैं, जबकि अंग्रेजी वाले कॉलम को खाली छोड़ देते हैं। अंग्रेजी में सर्टिफिकेट हासिल करने के लिए आवेदक को बाद में अलग से आवेदन देना पड़ता था और उसके बाद रजिस्ट्रार अंग्रेजी में बर्थ या डेथ सर्टिफिकेट जारी करता था। अब नगर निगम में बने सेवा केंद्रों ने अंग्रेजी में सर्टिफिकेट हासिल करने वालों के आवेदन लेने बंद कर दिए हैं। उनका तर्क है कि रजिस्ट्रार दफ्तर की तरफ से इसके लिए मना किया गया है, क्योंकि दफ्तर की तरफ से सिर्फ पंजाबी में ही सर्टिफिकेट जारी किए जा रहे हैं।

दाखिला के समय स्कूल मांगते हैं अंग्रेजी में सर्टिफिकेट

कुछ निजी स्कूल संचालक ऐसे हैं, जो एडमिशन के समय पंजाबी में लिखे सर्टिफिकेट के साथ-साथ अंग्रेजी का सर्टिफिकेट भी मांग रहे हैं। इस वजह से अभिभावकों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। अभिभावक जब अपना आवेदन फार्म लेकर सेवा केंद्रों में जा रहे हैं तो उन्हें वापस लौटाया जा रहा है।

दूसरे राज्यों में जाने वालों को भी होगी परेशानी

जो बच्चे प्रदेश में पैदा होने के बाद दूसरे राज्यों में जा रहे हैं, उन्हें भी बर्थ सर्टिफिकेट अंग्रेजी में न होने से दिक्कत आ रही है, क्योंकि जब वह दूसरे राज्यों में दाखिला लेने जाते हैं तो बर्थ सर्टिफिकेट पर लगी पंजाबी वहां किसी को समझ में नहीं आती। सुविधा केंद्र वाले अंग्रेजी में आवेदन नहीं ले रहे हैं। वह आवेदनकर्ता को सर्टिफिकेट का ट्रांसलेशन करवाने की सलाह दे रहे हैं। उनका कहना है कि ट्रांसलेट कॉपी को वह नोटरी पब्लिक से अटेस्ट करवाकर प्रयोग कर सकते हैं।

नोटरी से ट्रांसलेट करवा अटेस्ट करवाएं

नगर निगम के डेथ-बर्थ रजिस्ट्रार डॉ. जसबीर कौर का कहना है कि सरकार की तरफ से हिदायतें मिली हैं कि पंजाबी भाषा में ही सर्टिफिकेट जारी किए जाएं। जिनको दूतावास में अपने प्रमाण पत्र जमा करवाने हैं, उनको अंग्रेजी में प्रमाण पत्र दिए जा रहे हैं। आम लोग नोटरी पब्लिक से ट्रांसलेट करवाकर उसे अटेस्ट करवा सकते हैं।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY