करतारपुर कॉरिडोर ISI की साजिश, पाकिस्तान सेना की बड़े खेल की तैयारी – मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह


पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि पाकिस्तानी सेना करतारपुर कॉरिडोर को लेकर साजिश रच रही है। प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने इसी साजिश के तहत कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के समक्ष कॉरिडोर को खोलने का विचार रखा था। यह स्पष्ट तौर पर आइएसआइ की योजना का हिस्सा है। पाकिस्तानी सेना ने भारत के विरुद्ध बहुत बड़ी साजिश रची है।

कैप्टन ने सिद्धू का बचाव किया, लेकिन साथ ही यह भी कहा कि सिद्धू के मुद्दे को गैरजरूरी तरीके से उभारा जा रहा है। जो इसको उभार रहे हैं वह आइएसआइ की योजना को देखने में असमर्थ हैं। शिअद व भाजपा का सिद्धू के मुद्दे को उभारना अपनी पीठ ठोंकने की जंग के अलावा और कुछ नहीं है। पाक पंजाब में आतंकवादी सरगर्मियों से अस्थिरता पैदा करने की कोशिश कर रहा है। अकाली-भाजपा ध्यान हटाने के लिए सिद्धू का मुद्दा उभार रहे हैं। कैप्टन ने कहा कि बटवारे के समय से ही करतारपुर साहिब के लिए कॉरिडोर खोलने की मांग लंबित थी। श्री ननकाना साहिब, श्री पंजा साहिब, डेरा साहिब और करतारपुर साहिब जैसे बहुत से धार्मिक स्थान बंटवारे के कारण पाकिस्तान में रह गए। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी व डॉ. मनमोहन सिंह ने भी कॅारिडोर खोलने का मुद्दा पाकिस्तान से उठाया था। मैंने खुद भी मामला उठाया था।

कैप्टन ने दोहराया कि उन्होंने सिद्धू को पाकिस्तान न जाने की सलाह दी थी। इसके बावजूद सिद्धू इमरान खान से दोस्ती के कारण वहां गए, जो तर्कसंगत नहीं था। मेरे भी वहां बहुत से दोस्त हैं। इनमें पाकिस्तान पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री परवेज इलाही शामिल हैं। हम पिछले कार्यकाल के दौरान लगातार मिलते रहे हैं। इलाही पटियाला भी आए थे।

पाक आर्मी चीफ बाजवा को दी चुनौती, कहा- माहौल बिगाड़ा तो बड़ी गलती होगी

सीएम ने कहा कि पाकिस्‍तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा को समझना चाहिए कि भारतीय सेना और यहां तक कि पंजाब पुलिस पाकिस्तान के साथ सीधी टक्कर लेने में सक्षम है। अगर उन्होंने माहौल बिगाड़ने की कोशिश की तो यह उनकी गलती होगी।

उन्होंने कहा कि पंजाब पुलिस 1970 व 1980 वाली पुलिस नहीं है। तब इसकी संख्या सिर्फ 16-17 हजार थी। अब यह फोर्स उच्च तकनीक, हथियारों व गोला-बारूद से लैस है। इसके पेशेवर कमांडो बटालियन और आ‌र्म्ड फोर्स भी है, जो किसी भी मुकाबले के लिए तैयार है।

  • 719
    Shares

LEAVE A REPLY