पाकिस्तान में मौजूद है ये 1500 साल पुराना पंचमुखी हनुमान मंदिर, कहते हैं भगवान राम भी आए थे यहां


लुधियाना – कहते हैं न सरहद बंटने से इतिहास नहीं बदला करते। पाकिस्तान में आज भी हिन्दुओं के कई ऐतिहासिक मंदिर मौजूद हैं और इन मंदिरों की अपनी मान्यता है। इन्हीं में से एक कराची का 1500 साल पुराना पंचमुखी हनुमान मंदिर। इस मंदिर में मौजूद हनुमान मूर्ति लगभग हजारों साल पुरानी है। इस जगह को लेकर ये भी मान्यता है कि खुद भगवान राम भी इस जगह पर एक बार जा चुके हैं। कहा जाता है कि मंदिर में मौजूद पंचमुखी हनुमान की मूर्ति कोई साधारण मूर्ति नहीं है क्योंकि इस मूर्ति में हनुमान के सभी पांच रूप नजर आते हैं। इस मूर्ति में हनुमान के नरसिम्हा, आदिवारागा, हयग्रीव, हनुमान और गरुड़ अवतार नजर आते हैं। माना जाता है कि ये मूर्ति इंसान की बनाई नहीं है बल्कि प्राकृतिक रुप से बनी है। सफेद और नीले रंग का ये 8 फीट लंबा स्टैचू कई सदी इस जगह पर स्थापित किया गया था, जिस जगह पर आज मंदिर मौजूद है। ऐसी मान्यता है कि कभी खुद भगवान राम इस जगह पर आए थे। मंदिर के 108 चक्कर लगाने से सभी तरह का दुख-दर्द खत्म हो जाता है। पाकिस्तान में सुरक्षित बचे ये कुछ हिन्दू मंदिरों में से एक है। यहां मराठी, सिन्धी से लेकर बलूच तक सभी कम्युनिटी के लोग आते हैं। मान्यताओं के मुताबिक, इस मंदिर का इतिहास लाखों साल पुराना है, लेकिन आज जो मंदिर मौजूद है, वो 18वीं शताब्दी में दोबारा बनाया गया था। इसके बाद कई बार इसकी मरम्मत की गई। 2012 में भी इसके रेन्नोवेशन का काम शुरू हुआ और मंदिर के रूप को संरक्षित किया गया।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY