सड़क हादसे में मारी गई महिला के परिजनों को थानेदार ने दिया उल्टा जवाब, भड़के लोगों ने सड़क पर दिया धरना


सड़क हादसे में मारी गई महिला के परिजन कार्रवाई करवाने के लिए थाने पहुंचे तो थानेदार ने पुलिसिया रौब दिखाते कहा कि हम कार्रवाई अपनी मर्जी से करेंगे, यहां धरना लगाना है लगा दो। इस पर भड़के लोगों ने गिल रोड पर अरोड़ा पैलेस के पास चौक में धरना लगा दिया। बाद में मौके पर पहुंचे शिमलापुरी के एसएचओ ने कार्रवाई के लिए दो घंटे का समय मांगा तब जाकर लोगों ने धरना उठाया। जानकारी के अनुसार शनिवार दोपहर के समय गिल रोड पर अरोड़ा पैलेस के पास सड़क पार करते समय राजी नाम की बुजुर्ग महिला को कैंटर चालक ने कुचल दिया था।

महिला की बहू कोमल ने बताया कि दोपहर के समय जब हादसा हुआ तब चौक में ट्रैफिक पुलिस मुलाजिम और लेडीज कांस्टेबल भी मौके पर खड़ी थीं, मगर किसी ने उसे नहीं उठाया। किसी ने उन्हें घर पर फोन किया तो वे मौके पर पहुंचे और ऑटो में लेटाकर प्राइवेट अस्पताल लेकर गए जहां पर उसकी मौत हो गई। मौके पर मौजूद लोगों के अनुसार पुलिस वालों ने कैंटर के चालक को भी पकड़ने का प्रयास नहीं किया और वह कैंटर यहीं छोड़कर फरार हो गया। कोमल के अनुसार, वह सुबह मामले की जांच के लिए थाना शिमलापुरी पहुंचे तो वहां पर मौजूद एएसआइ ने कहा कि कार्रवाई तुम लोगों के हिसाब से नहीं होगी। जिसके पास मामला है वह पुलिस अधिकारी यहां नहीं है जब आए तो कार्रवाई कर देगा। जब परिवार के सदस्यों ने उससे धरना लगाने की बात कही तो बोला कि यहां दिल करता है धरना लगा दो पुलिस कार्रवाई अपने हिसाब से करेगी।

इसके बाद परिवार के सदस्यों ने गिल रोड़ पर लाइटों पर धरना लगा दिया। मौके पर पहुंचे थाना शिमलापुरी प्रभारी इंस्पेक्टर दविंदर सिंह ने परिवार से दो घंटे का समय लिया और कहा कि प्रभावी कार्रवाई होगी। फिर धरना उठा लिया गया। दोपहर के बाद महिला का अंतिम संस्कार कर दिया गया है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY