सालाना एथलेटिक मीट में खिलाड़ी की गर्दन के आर-पार हुई जेवलिन, डीएमसी में हुई सर्जरी


Player Injured with Javelin during Athletic meet in Ludhiana

लुधियाना – गुरु अंगद देव वेटरनरी एंड एनिमल साइंस यूनिवर्सिटी (गडवासू) की सालाना एथलेटिक मीट में हिस्सा लेने आए अमृतसर के खालसा कॉलेज ऑफ वेटरनरी एंड एनिमल साइंस के स्टूडेंट रुतंजय ओहलन की गर्दन से जेवलिन आर-पार हो गई। उसे डीएमसी ले जाया गया, जहां उसकी सर्जरी की गई। डॉक्टरों के अनुसार रुतंजय अब खतरे से बाहर है। दूसरी तरफ घटना से यूनिवर्सिटी में खलबली मच गई, इसके बाद एथलेटिक मीट रद कर दी गई। रुतंजय ओहलन सोमवार की शाम एथलेटिक मीट के दौरान मंगलवार को होने वाले मार्चपास्ट का अभ्यास कर रहा था। इस दौरान वह पीएयू के एथलेटिक ग्राउंड में आ गया, जहां जैवलिन थ्रो के मुकाबले चल रहे थे। इस दौरान एक थ्रोअर का जैवलिन उसकी गर्दन के आर-पार हो गया। वह बुरी तरह से लहूलुहान हो गया। रुतंजय को तत्काल डीएमसी पहुंचाया गया। जहां चार घंटे की सर्जरी चली। खालसा कॉलेज अमृतसर के स्पोटर्स को-आर्डीनेटर एमएल मेहरा ने बताया कि रुतंजय पंचकूला का रहने वाला है और खालसा कॉलेज में वेटरनरी साइंस में सेकेंड इयर का स्टूडेंट है। घटना के संबंध में गडवासू का कोई अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं।

औपचारिक तौर पर करवाए जा रहे थे इवेंट

वेटरनरी यूनिवर्सिटी के डीएसडब्ल्यू डॉ. सत्यावान.रामपाल का कहना है कि एथलेटिक मीट का.उद्घाटन मंगलवार से होना था। ज्यादातर खेल मंगलवार को ही होने थे। सोमवार को औपचारिक तौर पर दोपहर बाद कुछ इवेंट करवाए गए, जिसमें सौ मीटर दौड़े व जैवलिन थ्रो शामिल था। .जैवलिन थ्रो मुकाबले से पहले ग्राउंड पर लगातार अनाउंसमेंट की.जा रही थी कि खिलाड़ी को छोड़कर दूसरे लोग साइड पर चले जाएं। ऐसी अनाउंसमेंट हर इवेंट में होती है। अनाउंसमेंट के बाद पीएयू का एथलेटिक ग्राउंड खाली हो चुका था, लेकिन अचानक पता नहीं कहां से रुतंजय दौड़ते हुए ग्राउंड पर आ गया। रुतंजय को जब डीएमसीएच.लाया गया, तब उसका काफी खून बह चुका था। क्योंकि गले की ब्लड वैसल को काफी क्षति पहुंची थी।

ब्लड देने के लिए अस्पताल पहुंच गए 50 से ज्यादा छात्र

बताया जा रहा है कि रुतंजय का ब्लड ग्रुप ओ नेगेटिव था। ऐसे में डॉक्टर भी चिंतित हो गए कि ओ नेगेटिव ब्लड कहां से लाया जाएगा। जैसे ही स्टूडेंट्स को यह बात पता चली तो पीएयू व वेटरनरी यूनिवर्सिटी के पचास से अधिक स्टूडेंट अस्पताल पहुंचे। इनमें से कुछ स्टूडेंट ऐसे थे, जिनका ब्लड ग्रुप ओ नेगेटिव था। वेटरनरी यूनिवर्सिटी के डीएसडब्ल्यू डॉ. सत्यावान रामपाल के अनुसार यूनिवर्सिटी के पास हर स्टूडेंट के ब्लड ग्रुप का रिकार्ड है। डॉ. रामपाल के अनुसार रुतंजय को ब्लड की कमी नहीं आने दी गई।

वीसी ने कहा- घटना दुखदायी, होगी जांच

यूनिवर्सिटी के वीसी डॉ. अमरजीत सिंह नंदा ने कहा कि यह बेहद दुखदाई घटना है। समझ नहीं आ रहा है कि यह कैसे हो गया। एथलेटिक मीट मंगलवार से शुरू होनी थी। मामले की जांच करवाई जाएगी।


LEAVE A REPLY