हिन्दू जन नेता प्रवीण तोगड़िया के निष्कासन को लेकर प्रेस वार्ता का आयोजन, हिन्दु जन नेता प्रवीण तोगड़िया का निष्कासन दुर्भाग्यपूर्ण – स्वामी रामेश्वर दास त्यागी


Press Conferences held in Ludhiana regarding Expulsion of Hindu Jan Leader Pravin Togadia

लुधियाना – श्री हिन्दू न्याय पीठ संगठन की तरफ से अपने मुख्य कार्यालय बंसन्त नगर गली नंबर 6 में संगठन के परमाध्यक्ष स्वामी रामेश्वर दास त्यागी की अध्यक्षता में मीटिंग का आयोजन किया गया। इस अवसर पर प्रेस वार्ता में स्वामी रामेश्वर दास त्यागी ने विश्व हिन्दू परिषद के अंतराष्ट्रीय कार्यध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया व् राघव रेडी को निष्कासित किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया।उन्होंने कहा कि विश्व हिन्दू परिषद हिन्दुओं का एक व्यापक जनसंगठन रहा है और 1964 से यह संगठन हिन्दू हितों को राजनिति के केंद्र बिंदु में लाने के लिए कार्य करता आ रहा है जिसमें प्रवीण तोगड़िया का जनसंगठन के हर आंदोलन में एक अत्तुल्य योगदान रहा है जिनमें श्री राम जन्म भूमि आंदोलन,श्री राम सेतु रक्षा आंदोलन,के इलावा हर आंदोलन में आगे रहे है और राजनितिक के केंद्र बिंदु में हिन्दुत्त्व आया है और ऐसे समय में जिस समय हिन्दू समाज को ऐसे नेतृत्व की बहुत आवश्यकता थी और उनको पद से हटाया जाना कई सवाल पैदा करता है उन्होंने कहा कि हिन्दू समाज के लिए यह एक बहुत बड़ी साजिश रची जा रही है और यह साजिश राजनितिक रूप से और सांस्कृतिक रूप से कई संगठन मिल कर रच रहे है हिन्दू समाज को तोड़ने के जो प्रयास किये जा रहे है उनमें से यह भी एक प्रयास है। स्वामी त्यागी जी ने कहा कि मोदी सरकार को हिन्दुओं ने हिन्दू राष्ट्र और हिन्दू हितों की रक्षा के लिए सत्ता सौपी थी परन्तु मोदी सरकार इसमें बहुत बुरी तरह से विफल रही है चाहे वो राम भूमि हो चाहे धारा 370 को हटाना,चाहे रोहंगिया मुसलमानों को बाहर निकाला आदि इन सभी मोर्चों में सरकार ने हिन्दुओ को निराश किया है।

उन्होंने कहा कि हिन्दू हितों की बुलंद आवाज प्रवीण तोगड़िया के सामाजिक,राजनितिक,सांस्कृतिक रूप से प्रभाव को समाप्त करने की एक साजिश है जिसमें राष्ट्रीय सेवक संघ भी कहीं न कहीं इस विषय में सम्मलित रहा है। स्वामी रामेश्वर दास त्यागी ने कहा कि संगठन हिन्दू न्याय पीठ संघ से यह मांग करती है कि अपने निर्णय पर पुनःविचार कर प्रवीण तोगड़िया को सन्मान के साथ उन्ही पद पर लाये और अगर संगठन ऐसा नहीं करता तो भविष्य में यह हिन्दू समाज के लिए अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण होगा जिसका असर आगामी चुनावों में भी पड़ सकता है।उन्होंने चेतावनी देते हुए कि सांगठरिक व्यवस्थाओं के नाम पर हिन्दू समाज को तोड़ने का कार्य बंद कर अपने निर्णय में अति शीघ्र बदलाव लाये नहीं तो हिन्दू समाज व् हिन्दू परिषद के सामाजिक वहिष्कार को बाध्य होगा।इस अवसर पर श्री हिन्दू न्यायपीठ पंजाब परमाध्यक्ष स्वामी श्री रामेश्वर दास त्यागी जी, विधानपरिषद सदस्य भूपिंदर बंगा, युवा अध्य्क्ष योगेश धीमान,सतीश क्वात्रा,रॉय साब, किशन डंग,अभिषेक धीमान,करण वर्मा,शुभम धीमान,भरत बैरी आदि उपस्थित हुए।

  • 719
    Shares

LEAVE A REPLY