सैंट्रल जेल में हवालाती की हुई मौत ने लिया नया मोड़, परिजन के अनुसार हवालाती की हुई है हत्या


2018_6image_10_03_126050000qs-ll

लुधियाना – सोमवार शाम लगभग 6 बजे सैंट्रल जेल की बैरक के बाथरूम में मिले हवालाती प्रकाश चंद के शव के मामले में नया मोड़ आ गया है। पोस्टमार्टम दौरान डाक्टरों ने गले पर निशान पडऩे से उसकी हत्या की आशंका जताई है जिसका बिसरा खरड़ व पटियाला में टैस्ट के लिए भेजा गया है। मंगलवार को सिविल अस्पताल के डा. सीमा चोपड़ा, डा. दविंन्द्र सिंह व डा. सविता ने ज्युडिशियल मैजिस्ट्रेट विश्व गुप्ता की उपस्थिति में शव का पोस्टमार्टम किया जिसमें उसके गले पर निशान पाए गए हैं। इसके बाद ज्युडिशियल मैजिस्ट्रेट विश्व गुप्ता हवालाती प्रकाश चंद की मौत के तथ्यों की जांच करने जेल पहुंचे। आज सुबह इस्लामगंज, प्रेम नगर में राजस्थान समाज से संबंध रखने वाले लोग रोष स्वरूप मृतक हवालाती के घर के बाहर एकत्रित होने शुरू हो गए।

सूचना मिलने पर थाना डिवीजन नं. 2 के एस.एच.ओ गुरविन्द्र सिंह पुलिस कर्मचारियों सहित मौके पर पहुंच गए। परिवार के सदस्य जेल प्रशासन के प्रति अपना रोष प्रकट कर आरोप लगा रहे थे कि 11 जून को सुबह जेल में अपने मृतक बेटे की मुलाकात करने गए थे तो वहां से मिली सूचना के आधार पर वह बिल्कुल ठीक था। परंतु किसी कारणवश उससे मुलाकात नहीं हो सकी। मगर उसकी मौत का समाचार सुनकर उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। मृतक हवालाती के परिवार ने आरोप लगाते हुए कहा कि जेल में हमारे बेटे की गला घोंट कर हत्या की गई हैं, क्योंकि जब जेल गार्द कर्मचारी शव को शव गृह में रखने सिविल अस्पताल आए थे तब शव के गले पर कुछ निशान नजर आ रहे थे।

विधायक ने जेल सुपरिंटैंडैंट से ली जानकारी

क्षेत्रीय विधायक सुरिन्द्र डाबर जब परिवार के साथ संवेदना प्रकट करने पहुंचे तो वहां कई लोग एकत्रित हो गए। इनमें सुरेश निर्वाण, दिनेश कुमार बल्लु, दुली चंद, प्रमोद कुमार, विनोद कुमार, रवि कुमार, संजय आदि ने परिवार की ओर से विधायक डाबर से मांग की कि मृतक हवालाती प्रकाश चंद की जेल में हुई मौत के सही तथ्यों पर निष्पक्ष जांच करवाई जाए जिससे मौत के जिम्मेदार लोगों का पर्दाफाश हो सके।

जेल के नशा छुड़ाओ केन्द्र में चल रहा था इलाज

मृतक हवालाती पर थाना डिवीजन नं. 5 में मामला दर्ज होने के चलते ताजपुर रोड, ब्रोस्टल जेल भेजा गया था। मृतक हवालाती को नशे की आदत होने पर ब्रोस्टल जेल से सैंट्रल जेल के नशा छुड़ाओं केन्द्र में भेज दिया गया था जहां उसका इलाज चल रहा था। उधर, परिवार वालों ने हवालाती प्रकाश चंद के गले के अलावा सिर व पीठ पर भी निशान पड़े होने की आशंका व्यक्त की है जबकि जेल सुपरिंडैंटट शमशेर सिंह बोपाराय मृतक के गले पर ही निशान होने की पुष्टि करते हुए शरीर के अन्य किसी भी हिस्से पर निशान न होने की बात कही है।

  • 366
    Shares

LEAVE A REPLY