मशहूर क्रिकेटर इरफान पठान पहुंचे लुधियाना, पंजाब की पहली क्रिकेट एकेडमी की लुधियाना में हुई शुरुआत


मशहूर क्रिकेटर इरफान पठान की ओर से लुधियाना में प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया जिसमें उन्होंने पंजाब के लुधियाना से पहली क्रिकेट अकैडमी खोलने की शुरुआत की वही मीडिया से रूबरू होते हुए उन्होंने कहा कि देश के अलग-अलग हिस्सों में कई एकेडमी खोली गई है जिससे नौजवानों व बच्चों को खेलने का मौका मिल सकेगा वही उन्होंने कहा की अकैडमी पंजाब में उभरते क्रिकेटरों की सिखलाई और विकास के लिए अति आधुनिक कोचिंग का हिस्सा बनेगी| उन्होंने कहा कि यह देश में 14 वीं व सीएपी की ओर से चौथी एकेडमी खोली गई है| मेलों और महोत्सवों का शौकीन यह राज्य विभिन्न खेलों, खासकर क्रिकेट के आयोजनों में पीछे नहीं है। पंजाब की धरती ने टीम इंडिया को कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्टीय खिलाड़ी दिए हैं और उन सभी में दो आम चीजें देखने को मिलती हैं – जिंदगी के लिए उत्साह और सकारात्मक सोच। सीएपी पंजाब के युवा क्रिकेटरों को जिला और राज्य स्तर पर चयन के लिए तैयार करने के प्रयास में उन्हें गुणवत्तायुक्त सेवाएं मुहैया कराएगी। पूरे भारत में 21 छात्रों को सीएपी केंद्रों से जिला और राज्य स्तर के मैचों के लिए पहले ही चुना जा चुका है। एकेडेमी पंजाब में उभरते क्रिकेटरों के प्रशिक्षण और विकास के लिए अत्याधुनिक कोचिंग तकनीकों का इस्तेमाल करेगी।

सीएपी मौजूदा समय में 13 शहरों – दिल्ली, कोटा, पटना, मोर्बी, नोएडा, बेंगलूरु, राजकोट, सूरत, सोनीपत, पोर्ट प्लेयर, रायपुर और लूनावाडा में मौजूद है और उसने युवाओं को विष्वस्तरीय कोचिंग एवं प्रशिक्षण ढांचा मुहैया कराने का लक्ष्य रखा है। आस्ट्रेलियाई क्रिकेट हस्ती और भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कोच ग्रेग चैपल तथा ऑस्ट्रेलिया से प्रख्यात कोच केमरॉन ट्रेडल ने इस कोचिंग प्रोग्राम के लिए पाठ्यक्रम को तैयार किया है। ओला कैब्स, ओप्पो मोबाइल्स जैसी बड़ी कंपनियां और भारतीय सेना भी सीएपी केंद्रों में प्रषिक्षा के लिए 26 से अधिक बच्चों की मदद कर चुकी हैं। अन्य कंपनियां, एनजीओ और सामाजिक संगठन भी प्रतिभाषाली युवा हौनहारों के लिए छात्रवृत्ति कार्यक्रम आयोजित करने के लिए सीएपी के साथ काम करने को इच्छुक हैं। सीएपी ने पूरे भारत में विस्तार के तहत गुजरात, पंजाब, महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश के विभिन्न शहरों में भागीदारों के साथ 2 करोड़ रुपये निवेश करने की प्रतिबद्धता जताई है। चुनिंदा, अनुभवी कोचों के समूह के साथ पठान बंधुओं इरफान और यूसुफ ने इस गेम के प्रति अपने लगाव को प्रदर्शित करते हुए दो साल पहले ये एकेडेमी शुरू की थीं।

सीएपी के प्रबंध निदेशक हरमीत वासदेव के अनुसार, ‘सीएपी ने उन उभरते क्रिकेटरों को अवसर मुहैया करने के लिए चंडीगढ़, अमृतसर, जालंधर, पटियाला और पठानकोट समेत पंजाब के सभी प्रमुख षहरों में परिचालन की योजना बनाई है जो इस खेल को पसंद करते हैं और उन्हें विष्वस्तरीय कोचिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर की जरूरत है। पंजाब इन प्रतिभाओं से संपन्न है और इनमें से ज्यादातर इन षहरों में मौजूद हैं। हम राज्य से जिला, राज्य और राश्ट्रीय स्तर के क्रिकेटरों को तैयार करने के लिए इन प्रतिभाओं का इस्तेमाल करने के लिए बेहद उत्साहित हैं। सीएपी ने अगले साल के मध्य तक भारत के विभिन्न शहरों में 20 और नए एकेडेमी खोलने की योजना बनाई है और इसकी शुरुआत जल्द ही मैनपुरी, श्रीरामपुर, मैसूर, इंदौर, भोपाल, पठानकोट, जालंधर, और अमृतसर से की जाएगी।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY