चुनाव से पहले पंजाब सरकार लाने जा रही है नई एक्साइज पॉलिसी, सस्ती होगी शराब – शराब तस्करी पर लगेगी रोक


Wine Drinking

आने वाले चुनावों से पहले पंजाब सरकार नई एक्साइज पॉलिसी लाने जा रही है ऐसा करके पंजाब सरकार एक तीर से दो निशानों को साध रही है| जिसमें लोकसभा चुनाव को देखते हुए सरकार शराब पीने वाले शौकीनों को सस्ती शराब के राह खोलेगी वहीं पंजाब में शराब सस्ती होने से पड़ोसी राज्यों से होने वाली तस्करी पर भी रोक लगेगी।

बजट से पूर्व 16 फरवरी को होने वाली कैबिनेट बैठक में पंजाब सरकार इस पॉलिसी पर अपनी मोहर लगा सकती है। बता दें की पंजाब सरकार द्वारा बजट 18 फरवरी को पेश होना है। पंजाब में लंबे समय से शराब सस्ती करने की मांग उठ रही थी। आबकारी एवं कराधान विभाग की लंबे समय से शिकायत रही है कि पंजाब में महंगी शराब के कारण दूसरे राज्यों से इसकी तस्करी होती है। इससे सरकार को न सिर्फ राजस्व का नुकसान होता है, बल्कि कानून व्यवस्था पर भी इसका असर पड़ता है। पंजाब की सीमाएं कई राज्यों से लगती है। ऐसे में तस्करी को पूर्ण रूप से रोकना काफी चुनौती भरा काम है। तस्करों को राजनीतिक शह मिलने के कारण यह समस्या और बढ़ जाती है।

चालू वित्तीय वर्ष में पंजाब सरकार ने एक्साइज से 6000 करोड़ रुपये के राजस्व का अनुमान लगाया था। आबकारी विभाग का आंकलन है कि इसमें 600 से 700 करोड़ रुपये की कमी आएगी। विभाग का अनुमान है कि काफी मशक्कत के बाद भी विभाग 5400 करोड़ रुपये से अधिक का राजस्व नहीं जुटा पाएगा। इसका मुख्य कारण राजस्व में लीकेज होने को माना जा रहा है जोकि महंगी शराब की वजह से है।

इसी कारण एक्साइज विभाग नई पॉलिसी तैयार कर रहा है। इसमें वह शराब की कीमतों में 12 से 15 फीसद की कटौती कर सकता है। नई पॉलिसी से हरियाणा, राजस्थान व हिमाचल प्रदेश के मुकाबले पंजाब की शराब तुलनात्मक रूप से कीमत के मामले में करीब-करीब पहुंच जाएगी जिससे शराब तस्करी में कमी आ सकती है।

  • 175
    Shares

LEAVE A REPLY