नशे में धुत्त सिपाही ने किया लड़की से दुष्कर्म का प्रयास, सिपाही की हुई जमकर धुनाई


Punjab police constable arrested

बुधवार आधी रात को नशे में धुत्त पंजाब पुलिस का सिपाही लड़की से दुष्कर्म करने की नीयत से उसके घर में दाखिल हो गया और हथियार के बल पर सो रही लड़की को दबोचा लिया। परिवार वालों के शोर मचाने पर एकत्रित हुए गांव वालों ने सिपाही को काबू कर उसकी जमकर धुनाई की और मौके पर पुलिस को बुलाकर उसके हवाले कर दिया। पुलिस ने सिपाही के विरुद्ध दुष्कर्म की कोशिश करने का केस किया दर्ज है।

दातर दिखाकर परिजनों व गांव वालों को धमकाया

पुलिस लाइन जालंधर में तैनात सिपाही निखिल की नजदीकी गांव की लड़की पर गंदी नजर थी। गत रात्रि पुलिस का स्टिकर लगी कार में वह हुटर बजाता हुआ लड़की के घर के बाहर पहुंच गया। पुलिस सायरन की आवाज सुन गांव वालों को लगा कि पुलिस उनकी सुरक्षा में गश्त कर रही है। इतने में सिपाही निखिल लड़की के घर के अंदर दाखिल हो गया और लड़की को अपनी हवस का शिकार बनाने के लिए दबोच लिया। लड़की के चीखने चिल्लाने की आवाजें सुन कर उसके परिवार वाले उसके कमरे की तरफ भागे तो सिपाही ने तेजधार दातर निकाल लिया।

परिवार वालों का शोर सुनकर गांव के लोग पीड़ित लड़की के घर पहुंच गए। सिपाही ने गांव वालों को धमकाते हुए वहां से जाने को कहा तो गांव वासियों ने हिम्मत कर सिपाही को दबोच लिया और उसकी जमकर धुनाई की। गांववासियों को लगा कि घर के बाहर खड़़ी उसकी कार में उसके साथी भी छिपे हैं तो उन्होंने कार को घेर कर उसकी भी तोड़-फोड़ की।सूचना मिलते ही पुलिस ने वहां पहुंच कर सिपाही को काबू कर लिया और फिल्लौर थाने में ले आई। जहां पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर सिपाही निखिल के विरुद्ध लड़की से दुष्कर्म करने की कोशिश का केस दर्ज कर हवालात में बंद कर दिया।

पीड़िता ने कहा-बदनाम करने की झूठी साजिशें रच चुका है आरोपी

पुलिस थाने में मौजूद पीड़ित लड़की ने बताया कि सिपाही निखिल पंजाब पुलिस की वर्दी में बहुत बड़ा विलेन था। वह पुलिस वर्दी का फायदा उठाकर उसे कई बार धमका कर गांव में बदनाम करने की झूठी साजिशें रच चुका है। गत माह निखिल आधी रात को एस.टी.एफ . की टीम को नशा तस्करी की झूठी जानकारी देकर उन्हें साथ लेकर उसके घर आ धमका। जहां अधिकारी एक घंटे तक उसके बयान दर्ज करते रहे। उक्त घटना के बाद गांव में भी सिपाही ने उसकी छवि खराब करने की कोशिश की जिस पर वह अगले ही रोज सरपंच कांती मोहन के साथ डी.एस.पी. फिल्लौर के कार्यालय में पेश हुई जहां एस.पी.डी. बलकार सिंह भी मौजूद थे जिनके आश्वासन के पश्चात वह घर लौट आई।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY