ट्रेन ड्राइवर की सुझबुझ से बची कई रेल यात्रियों की जान, बड़ा हादसा टला – कई ट्रेनें हुई लेट


 

पठानकोट से दिल्ली जा रही ट्रेन में सवार हजारों यात्री रविवार को ड्राइवर की मुस्तैदी से बाल-बाल बच गए। दोपहर करीब 11:50 बजे ढंडारी रेलवे स्टेशन से पहले ही इलेक्ट्रिक इंजन को पावर देने वाली हाईटेंशन तार लटक रही थी। ट्रेन के ड्राइवर ने दूर से ही उसे देखा तो तुरंत ब्रेक लगा दी और फिर वायर टचिंग स्टैंड को नीचे कर लिया। इससे ट्रेन में करंट आने से बचाव हो गया और बड़ा हादसा टल गया।

ट्रेन के गार्ड और ड्राइवर ने ढीली तार की सूचना शीर्ष अधिकारी को दी। ट्रैफिक इंस्पेक्टर आरके शर्मा टीम के साथ मौके पर पहुंचे और मरम्मत में जुट गए। तब तक पठानकोट एक्सप्रेस को डीजल इंजन से वापस उसी ट्रैक से लुधियाना स्टेशन पर लाया गया। उसके बाद इस ट्रेन सहित डाउन ट्रैक से ही आधा दर्जन ट्रेनों को भेजा गया। हाईटेंशन वायर ढीली होने में रेलवे के अधिकारी की ही लापरवाही सामने आई है। पोल सपोर्ट वायर टूटने से ही ही हाईटेंशन तार ढीली हुई। ट्रेन लेट होने और दुर्घटना की सूचना से यात्री सकते में रहे।

शीर्ष अधिकारी ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। रेल ट्रैक के पास सफाई के दौरान जेसीबी से टूटी सपोर्ट वायर ढंडारी के पास किलोमीटर नंबर 396-46 के पास पीडब्ल्यूआइ अपनी टीम के साथ जेसीबी से रेल ट्रैक के पास सफाई का काम करवा रहे थे। तभी हाईटेंशन वायर पोल का सपोर्ट वायर जेसीबी ने तोड़ दिया। इससे हाईटेंशन तार ढीली हो गई। हाईटेंशन पोल वायर साढ़े तीन घंटे बाद दोपहर करीब 3:15 बजे ठीक हो पाई। इस दौरान लुधियाना से दिल्ली की ओर जाने वाली आधा दर्जन ट्रेनों को अप लाइन से ही रवाना किया गया। साढ़े तीन बजे के बाद से ट्रेनों का आवागमन सामान्य हो सका।

यह ट्रेनें हुई घंटों लेट

स्वर्ण शताब्दी एक्सप्रेस, अमृसर एक्सप्रेस हावड़ा मेल, अटारी जबलपुर एक्सप्रेस, जनसेवा एक्सप्रेस, लाल कुआं एक्सप्रेस, मालवा एक्सप्रेस, शहीद एक्सप्रेस के अलावा कुछ लोकल ट्रेनें भी घंटों लेट हुई।

टिकट वापसी को लेकर परेशान रहे यात्री

यात्री गगनदेव प्रसाद, विनोद कुमार ने बताया कि आज उन लोगों का सफर ठीक नहीं रहा। हाई टेंशन वायर ढीला होने की सूचना के बाद उन्होंने व उनके साथियों ने टिकट वापस कर सफर रद कर दिया। फिरोजपुर रेल मंडल के डीटीएम अशोक सिंह सलारिया ने कहा कि पोल सपोर्ट वायर टूटने से समस्या आई। पर रेल मुलाजिमों की चौकसी से कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। ट्रेनों का आवागमन बहाल हो चुका है।


LEAVE A REPLY